किसी भी शांति क्षेत्र में रात्रि के समय आवासीय क्षेत्रों में हार्न ध्वनि विस्तारक यंत्र न बजाए जाए -जिलाधिकारी

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

कोई ध्वनि उत्पन्न करने वाला यंत्र या म्यूजिकल वाद्य यंत्र या ध्वनि विस्तारक यंत्र बन्द स्थान के अलावा बिना अनुमति के रात्रि में प्रयोग नहीं करेंगा।
ध्वनि प्रदूषण (विनियम एवं नियंत्रण) नियम 2000 यथा संशोधित किया गया है।
दिनांक 14 अगस्त, 2020

बलरामपुर। जिलाधिकारी, बलरामपुर कृष्णा करुणेश ने उत्तर प्रदेश शासन एवं सदस्य सचिव नियंत्रण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड उ0 प्र0 के परिप्रेक्ष्य में व मा0 उच्च न्यायालय इलाहाबाद में दायर रिट याचिका संख्या-1216/2019 सुशील चन्द्र श्रीवास्तव व अन्य स्टेट में पारित आदेश दिनांक 20.08.2019 के अनुपालन में ध्वनि प्रदूषण (विनियम एवं नियंत्रण) नियम 2000 यथा संशोधित किया गया है।
जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति लाउडस्पीकर या पब्लिक ऐड्रस सिस्टम का प्रयोग संबन्धित उप जिला मजिस्ट्रेट के लिखित अनुमति के पश्चात् ही करेगा । कोई ध्वनि उत्पन्न करने वाला यंत्र या म्यूजिकल वाद्य यंत्र या ध्वनि विस्तारक यंत्र बन्द स्थान के अलावा बिना अनुमति के रात्रि में प्रयोग नहीं करेंगा। जैसे आडिटोरियम, कान्फ्रेन्स हाॅल, कम्युनिटी हाॅल, बैंकुयट हाॅल या पब्लिक इमरजेन्सी के लिए। किसी भी सार्वजनिक स्थल की सीमा पर ध्वनि तीव्रता किसी भी ध्वनि विस्तारक यंत्र द्वारा 10 डी0बी0-ए से अधिक नहीं होगी, जो कि कुल ध्वनि तीव्रता के आधार पर बढ़कर 75 डी0बी0-ए होगी और इनमें से जो कम होगी वह मान्य होगी। यदि कोई वाद्य यंत्र प्राइवेट स्तर पर प्रयोग किया जाना है, वह इस प्रकार प्रयोग किया जाए कि वह लोकस्थल को प्रभावित न करें तथा उसकी ध्वनि तीव्रता 05 डी0बी0-ए से अधिक न हो। किसी भी शांति क्षेत्र में रात्रि के समय आवासीय क्षेत्रों में हार्न ध्वनि विस्तारक यंत्र न बजाए जाए। यह नियम पब्लिक इमरजेन्सी के दौरान नहीं लागू होगा। आवाज पैदा करने वाले कोई भी पटाखें शांति क्षेत्र में रात्रि के समय नहीं छोड़े जायेंगे। आवाज पैदा करने वाले निर्माण में इस्तेमाल होने वाले मशीनों का प्रयोग आवासीय क्षेत्रों एवं शांति क्षेत्र में रात्रि के समय नहीं किया जायेगा। अस्पताल, शैक्षिक संस्थान, न्यायालय परिसर या धार्मिक स्थल या अन्य कोई स्थान जो सक्षम अधिकारी द्वारा चिन्हित किया गया हो, से 100 मीटर सीमा में है, शांति जोन होगा।
उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में ध्वनि तीव्रता निर्धारित कर दी गयी है। औद्योगिक क्षेत्र में ध्वनि तीव्रता दिन के समय 75 डी0बी0-ए व रात्रि के समय 70 डी0बी0-ए, व्यवसायिक क्षेत्र में दिन के समय 65 डी0बी0-ए व 55 डी0बी0-ए, आवासीय क्षेत्र 55 डी0बी0-ए व रात्रि के समय 45 डी0बी0-ए शांति क्ष़्ोत्र में 50 डी0बी0-ए व रात्रि के समय 40 डी0बी0-ए निर्धारित किया गया है। इस आदेश अथवा ध्वनि प्रदूषण नियम 2000 में दिये गये निर्देशों का जो भी व्यक्ति उल्लंघन करेगा, उसके विरुद्ध सक्षम अधिकारी द्वारा विधिक कार्यवाही की जायेगी। जनपद में सक्षम अधिकारी संबन्धित क्षेत्र के उप जिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी होंगें। उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी नगर व सदर बलरामपुर का मोबाइल नम्बर- 9454416055, 9454401365, 9454764590, उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी उतरौला-9454416056, 9454401367, उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी तुलसीपुर-9454416057, 9454401366 पर आम जनमानस ध्वनि प्रदूषण से संबन्धित शिकायत दर्ज करा सकते है।