गर्दन फंसती देख स्वतंत्रता दिवस के दिन बांटा पोषाहार

यूपी फाइट टाइम्स
ओमनरायण विश्वकर्मा ।

खागा (फतेहपुर): बाल विकास परियोजना विभाग में लापरवाही की हदें पार की जा रही हैं। महीनों पोषाहार वितरण न करने वाली कार्यकत्री ने लगातार शिकायतों की वजह से देखा कि गर्दन फंस सकती है तो स्वाधीनता दिवस के दिन ग्रामीणों को बुलाकर पोषाहार का वितरण कर दिया। यह देखकर ग्रामीण भी भौचक्का हैं कि आखिरकार जिस दरवाजे पर महीनों उन्हें वितरण की राह देखनी पड़ती थी, आज ऐसा क्या हुआ कि बुलाकर पोषाहार का वितरण किया गया।

पूरा मामला यह है कि गांव में रिमोट कंट्रोल से आंगनबाड़ी केंद्र का संचालन किया जा रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकत्री अनुराधा तिवारी, प्रयागराज में रहकर सेंटर का संचालन कर रही हैं। कई बार ग्रामीणों ने इनकी विभागीय अधिकारियों से शिकायत की। हर बार चढ़ाव देकर उक्त कार्यकत्री विभागीय कार्यवाही से बच जाती हैं। ग्रामीणों ने बताया कि प्रति माह आने वाले पोषाहार की आंगनबाड़ी कार्यकत्री के पति द्वारा बिक्री कर दी जाती है। जरूरतमंद बच्चों, धात्री महिलाओं का पोषाहार, मवेशियों का निवाला बनता है। हाटकुक्ड की रकम बिना किसी उपयोग हजम की जा रही थी। ग्रामीणों ने एक बार फिर से सेंटर बंद होने तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्री की मनमानी की शिकायत विभागीय अधिकारियों से की। ग्रामीणों ने बताया कि बीते कई वर्षों से सेेंटर बंद रखते हुए आगनबाड़ी कार्यकत्री प्रयागराज से सारा काम देख रही हैं। विभागीय मिलीभगत की पोल खुली तो अधिकारी भी सतर्क हो गए। शनिवार को स्वतंत्रता दिवस का अवकाश होने के बावजूद कार्यवाही के डर से कार्यकत्री के पति ने ग्रामीणों को बुलाकर पोषाहार का वितरण कर दिया। खास बात रही कि वितरण के दौरान सामाजिक दूरी का पालन तक नहीं किया गया। एक जगह पर दर्जनों ग्रामीणों को बुलाकर पोषााहार बांटा गया। अब देखने वाली बात होगी कि ब्लाक स्तरीय विभागीय अधिकारी पूरे मामले में क्या कार्यवाही करते हैं। इस बार कोई कार्यवाही होती है या फिर मामला पहले की तरह हीे निपट जाएगा।