अधिकारी व प्रतिनिधि एक दूसरे के पूरक

योजनाओं की, की गई समीक्षा

समन्वय बनाकर विकास कार्यों को कराएं क्रियान्वित

देवरिया(सू0वि0) 03 सितम्बर। टाउन हाल ऑडिटोरियम में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति(दिशा) की बैठक सम्पन्न हुई, जिसकी अध्यक्षता सलेमपुर सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने की तथा इस बैठक में सह अध्यक्ष सदर सांसद डा0 रमापति राम त्रिपाठी एवं बासगांव सांसद कमलेश पासवान उपस्थित रहे तथा कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, मत्स्य राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद भी उपस्थित रहें। केन्द्र व राज्य सरकार की संचालित विभिन्न योजनाओं की गहन समीक्षा की गयी तथा उसे प्राथमिकता के साथ क्रियान्वित करने और लोगो तक पहुॅचाये जाने का निर्देश अधिकारियों को दिया गया।
समिति के अध्यक्ष सलेमपुर सांसद श्री कुशवाहा ने कहा कि जो भी समस्याये व प्रकरण जन प्रतिनिधियों द्वारा लाया गया है, उसे सभी अधिकारी गंभीरतापूर्वक लेगें और उसका समुचित निराकरण करेंगे। यह प्रयास होना चाहिए कि जो भी योजनाएं संचालित है उसका क्रियान्वयन पारदर्शिता व वास्तविकता के साथ हो। उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधि व अधिकारी आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए जनपद को विकास के पथ पर अग्रणी रखेंगे। उन्होंने सभी कार्यदायी एजेंसियों को निर्देश देते हुए कहा कि बिधान सभा क्षेत्रों में जो भी कार्य स्वीकृत हो या पूर्ण हो जाए, उस की सूचना स्थानीय जन प्रतिनिधियों को दें और उसका शिलान्यास व लोकार्पण भी उनसे कराएं। उन्होंने सलेमपुर से नवलपुर भागलपुर की खराब सड़क की स्थिति को रखते हुए उसे ठीक कराए जाने को कहा। अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी द्वारा अक्टूबर माह तक इसे ठीक कराए जाने का आश्वासन दिया गया।
कृषि मंत्री श्री शाही ने आये जन समस्याओं पर त्वरित कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने मनरेगा के तहत जनपद में किए गए कार्य प्रस्ताव एवं बजट प्राविधान की जानकारी की। बताया गया कि 112 करोड़ का लेबर बजट का कार्य प्रस्ताव बनाया गया है। उन्होंने कहा कि इसमें और बढ़ोतरी करते हुए जनपद का प्रस्ताव 200 करोड़ का रखा जाए ताकि मनरेगा के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिल सके। उन्होंने राष्ट्रीय पेयजल योजना के तहत निर्माणाधीन पेयजल टंकियों को प्राथमिकता के साथ पूरा किए जाने का निर्देश दिया तथा उसका अनुश्रवण मुख्य विकास अधिकारी को किए जाने को कहा। उन्होंने महुआडीह से हेतिमपुर की खराब सड़क का जिक्र करते हुए अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी को फटकार लगाते हुए कहा कि फील्ड में जाएंगे तभी सड़कों की स्थिति की जानकारी रहेगी।उन्होंने ऐसे सभी खराब सड़कों को चिन्हित कर उसके मरम्मत किए जाने को कहा।उन्होंने अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी व्यक्त की तथा कहा कि बिना किसी सूचना के यदि वे आगे गायब रहेंगे तो कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जलभराव एक बड़ी समस्या है इस पर कार्य करने की विशेष जरूरत है इस पर कार्य योजना बनाकर मनरेगा के तहत कार्य सुनिश्चित कराया जाए।
राज्यमंत्री श्री निषाद ने विधान सभावार व ग्राम पंचायतवार विभिन्न कार्य योजनाओं व जन कल्याणकारी योजनाओं के तहत कराये गये कार्यो की सूची सभी जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराये जाने को कहा। उन्होंने राप्ती गोर्रा एवं मझने एवं गोर्रा के बीच बने बंधे को काफी पुराना बताया तथा इस पर मनरेगा के तहत ऊंच्चीकरण एवं मरम्मत का कार्य कराए जाने को कहा।उन्होंने इसके लिए ब्लाकों में उपायुक्त मनरेगा को बैठक आयोजित कराकर बंधो के सटे ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों को भी सम्मिलित कर, उन्हें कार्य प्रस्ताव से भी अवगत कराए जाने को कहा। उन्होंने तिघरा मराछी बंधे के कटान से प्रभावित 3 गांव के मामले को रखा तथा कटान के स्थाई समाधान के लिए नदी के ड्रेजिंग किए जाने की आवश्यकता बताई। जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि इस पर ड्रेजिंग का कार्य प्रस्तावित है।
सदर सांसद श्री त्रिपाठी ने कहा कि योजनाओं का क्रियान्वयन करना अधिकारियों की जिम्मेदारी है और यदि कोई चूक होती है या लोगो तक योजनाओ का लाभ नही पहुॅचता है, तो इसके लिये वे जबाबदेह भी होगें इसलिये वे अपने दायित्वों को पूरी निष्ठा से निभायें। उन्होंने जनपद में जहां जहां सड़कें टूटी है उसे चिन्हित व सूचीबद्ध कर जनप्रतिनिधियों को भी एक सप्ताह के अंदर अवगत कराए जाने तथा कार्य योजना बनाकर उस पर कार्य किए जाने को कहा।उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि व अधिकारी एक-दूसरे के पूरक बने तभी कार्य होगा और कार्यों को औपचारिकता के रूप में नहीं बल्कि उसके प्रमाणिकता के लिए अधिकारी कार्य करें। उन्होंने मनरेगा में फर्जीवाड़े को चिन्हित करने व कार्रवाई कराए जाने को कहा इस पर जिलाधिकारी श्री किशोर ने कहा कि कार्रवाई कराई जाएगी और जहां भी कमी होगी उस पर कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी। सदर सांसद ने पकहा में पूर्व में शौचालय निर्माण में हुई अनियमितता में हुई करवाई की जानकारी डीपीआरओ एवं एडीएम वित्त से की।
बांसगांव सांसद श्री पासवान ने करुअना से बरहज,करुअना से मगहरा की खराब सड़कों की स्थिति को उठाया तथा उस पर कार्य किए जाने को कहा, साथ ही उन्होंने अनेक जन सुविधाओं से जुड़े मामले को रखा।
बैठक में एन आर एल एम की महिलाओं के माध्यम से रिक्त कोटे की दुकानों को संचालित कराए जाने की बात लाई गई, बताया गया कि जनपद में कोटे की 52 रिक्त दुकानें हैं, जो समूह के महिलाओं को प्राथमिकता के साथ संचालन के लिए दिए जाएंगे, इस पर समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि समूह के संचालन व प्रबंधन की क्षमता को ध्यान में रखते हुए पुराने समूह को ही दुकानों को संचालित किए जाने हेतु आवंटित किया जाए।
स्वास्थ विभाग की समीक्षा के दौरान कोविड-19 के संसाधनों की उपलब्धता के दृष्टिगत पोर्टेबल एक्स-रे की उपलब्धता सांसद/विधायक निधि के माध्यम से कराए जाने का प्रस्ताव रखा गया, जिस पर सहमति व्यक्त की गई।
सलेमपुर विधायक काली प्रसाद ने कुंडौली से मईल के बीच पुलिया एवं चकरा ढाला के एप्रोच मार्ग को ठीक कराए जाने,चनकी मोड़ से मेहरौना तटबंध पर कार्य कराए जाने की आवश्यकता जताई। ट्रांसफार्मर ओवरलोडिंग की भी समस्या उठाई।साथ ही अन्य जुड़े जन सुविधाओं को रखा तथा उस पर कार्य किए जाने की अपेक्षा की। उन्होंने भागलपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम भटौली तथा सलेमपुर अंतर्गत ग्राम मालीपुर में अधूरे भवन निर्माण को संज्ञान में लाया, जिस पर जिलाधिकारी ने दिखवाकर उस पर कार्रवाई कराए जाने को कहा।
बैठक में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, खाद्य सुरक्षा, पेंशन परक योजनाओं, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, आर ई एस, स्वास्थ्य योजनाएं,कृषि, शिक्षा, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण, राष्ट्रीय पेयजल कार्यक्रम, विद्युत आदि की गहन समीक्षा की गई। आर ई एस विभाग को सभी विधानसभा क्षेत्रों की एक-एक सड़कों को कार्य प्रस्ताव में लिए जाने को कहा गया।
जिलाधिकारी श्री किशोर ने समिति में आए सुझाव व निर्देशों का अनुपालन कराए जाने हेतु सभी संबंधित अधिकारियों एवं विभागों को निर्देशित किया कि बैठक में जो भी निर्देश दिए गए हैं उनका अक्षरस: पालन करते हुए यह सुनिश्चित करेंगे कि अगली बैठक में आई समस्याएं शत-प्रतिशत निष्पादित रहे।
मुख्य विकास अधिकारी शिवशरणप्पा जी एन ने पिछली बैठक की कार्यवृत्ति अनुपालन की पुष्टि कराई तथा एजेंडा बार एक एक बिंदुओं की प्रगति विवरण प्रस्तुत किया।
बैठक में पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, ए डी एम एफ आर उमेश कुमार मंगला, ए डी एम प्रशासन राकेश कुमार पटेल, सी आर ओ अमृतलाल बिंद, नपा अध्यक्ष अलका सिंह अन्य संबंधित अधिकारीगण, जनप्रतिनिधि गण आदि उपस्थित रहे।
देवरिया से ब्यूरो चीफ अनुराग रंजन की रिपोर्ट