दलितों के बढ़ते आत्म विश्वास और उनके विकास से घबराया विपक्ष – डाॅ0 निर्मल

दलितों के बढ़ते आत्म विश्वास और उनके विकास से घबराया विपक्ष – डाॅ0 निर्मल

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

बलरामपुर 9 अक्टूबर, 2020: उत्तर प्रदेश में दलितों के बढ़ते आत्मविश्वास और विकास से विपक्षी पार्टियां सदमें में है और फसाद कराकर दलितों के वोट बैंक में संेधमारी करना चाहती है किन्तु उनके मंसूबों पर पानी फिर चुका है और वे बेनकाब हो चुके हैं। उक्त बातें आज कलेक्ट्रेट सभागार बलरामपुर में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए उ0प्र0 अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डा0 लालजी प्रसाद निर्मल ने कही। डा0 निर्मल आज मझौली ग्राम के बलात्कार पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।

​डाॅ0 निर्मल ने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश की सरकारों ने बाबा साहेब डाॅ0 आंबेडकर को सम्मान देने के लिए उनसेे जुड़े पंच तीर्थों का विकास कराया। मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने डाॅ0 आंबेडकर की फोटो सभी सरकारी कार्यालयों में लगाने के आदेश दिये। आजादी के बाद पहली बार दलितों के लिए आर्थिक एजेण्डा जारी किया जिसमें स्टैंड अप इण्डिया योजना के तहत आज अनुसूचित जाति के युवा उद्यमी बन रहे हैं। पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के तहत प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर दलितों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। आज अनुसूचित जातियों के पास पक्के आवास हैं उनके घरों में शौचालय हैं उनके आवासों में बिजली की रोशनी है गैस सिलेण्डर हैं और यह आजादी के बाद पहली बार घटित हो रहा है।

​दलितों का यह विकास कांग्रेस, सपा, बसपा को रास नहीं आ रहा है और वे प्रदेश में हाथरस के बहाने फसाद की साजिश में लगे हुए थे किन्तु उनके मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए। डा0 निर्मल ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी जी देश के प्रथम प्रधानमंत्री हैं जिन्होने कुम्भ मेला प्रयागराज में सफाई कर्मियों का पैर धोकर उन्हें सम्मान दिया। दलितों के भाजपा प्रेम से प्रतिपक्ष घबरा गया है और नफरत फैलाकर अपनी सियासत चमकाना चाहता है।

​डा0 निर्मल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलित उत्पीड़न पर गंभीर कार्यवाही की जा रही है। जनपद बलरामपुर, जौनपुर, आजमगढ़ तथा बदायॅू में दलितों के साथ आगजनी/हत्या/बलात्कार के मामलों में सभी आरोपी जेल भेजे गए हैं और इन सबके खिलाफ रासुका लगाई गई है, फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से इन्हें शीघ्र सजा मिलेगी।