बसपा के समर्थन व बहनजी की कार्यशैली में बदलाव हेतु अभियान चलाएगा पदम

जनहित में प्रकाशनार्थ

प्रायागराज 21.07.2020, पूर्वांचल दलित अधिकार मंच (पदम) के संस्थापक उच्च न्यायालय के अधिवक्ता आईपी रामबृज ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके बताया कि ‘बहनजी को जगाओ और 85% बहुजन समाज को लेकर बसपा की सरकार बनाओ’ का अभियान चलाकर बसपा के समर्थन में मण्डल स्तर पर मण्डलीय सम्मेलन करने व उ.प्र. स्थित अट्ठारह मंडलो से बहुजन समाज के सामाजिक स्तर के बुद्धिजीवी लोगों को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल बसपा सुप्रीमो बहुजन नायिका बहन मायावती जी से मिलने हेतु समय लेगा। बहनजी से मिलकर एक ओर जहां विधानसभा चुनाव 2012 से बसपा का लगातार गिर रहे जनाधार का फीडबैक देगा तो वहीं दूसरी ओर बसपा का मिशन 2022 को दृष्टिगत रखते हुये सलाह भी देने का काम करेगा।
रामबृज ने उत्तर प्रदेश के अट्ठारह मंडलो के बनाये गये ‘बहनजी को जगाओ अभियान’ के मण्डल संयोजकों से ऑनलाइन बैठक करते हुये बताया कि बहनजी को अपनी कार्यशैली व रणनीति में बदलाव लाना होगा तथा बहुजन समाज के बुद्धिजीवियों से मिल रहे निम्नलिखित सुझाव को भी अमल में लाना होगा। बसपा में ओबीसी जातियों को बड़े पैमाने पर जोड़ना होगा और विधानसभा चुनाव- 2022 मे कम से कम 200 सीट पर ओबीसी, 100 सीट पर दलित आदिवासी, 50 सीट पर मुश्लिम और 50 सीट पर सवर्ण प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में उतारना होगा। 403 विधानसभा सीटों में 50% न सही कम से कम 30% महिलाओं को प्रत्याशी बनाना होगा। डा. अम्बेडकर द्वारा लिखित जिस संविधान में बहुजन समाज विश्वास करता है उसी संविधान में निहित सामाजिक न्याय का पालन करना होगा। बसपा से मोहभंग कर चुके बहुजन समाज के युवा और पुराने कर्मठ समर्पित लोगों को बसपा से जोड़ने के लिये विशेष अभियान चलाना होगा तथा इसके लिये बसपा प्रमुख को चुनाव से पूर्व उत्तर प्रदेश के 75 जिलो का दौड़ा करना होगा। अगर ऐसा हुआ तो नई पीढ़ी के करोड़ो मतदाता खुद ब खुद बसपा से जुड़ जायेगा। विधानसभा चुनाव 2022 में सुरक्षित सीट के अलावा सामान्य सीट पर भी दलित आदिवासी को चुनाव लड़ाना होगा। विधानसभा चुनाव-2022 के लिये पार्टी जिन्हें उम्मीदवार बनाये उनसे पार्टी फण्ड के लिये कम से कम आर्थिक सहयोग लिया जाय और चुनाव से पूर्व किसी उम्मीदवार का टिकट न काटा जाय। चुनाव में जनसंख्या के आधार पर सभी जातियों से प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतारे जाय तथा टिकट संविधान में विश्वास करने वाले जनवादी वैज्ञानिक सोच रखने वाले बहुजन समाजहित से जुड़े बुद्धिजीवियों को ही दिया जाय। आपराधिक गतिविधियों से जुड़े लोगों से बसपा जितनी दूरी बना सकती है उतनी दूरी बनाये रखे।
उत्तर प्रदेश स्थित सभी मंडलो में आगरा से राजकिशोर राही, प्रायागराज से अभिषेक कुमार, वाराणसी से अरविन्द भूषण, मेरठ से अजय सिंह, बस्ती से अक्षय कुमार, गोरखपुर से बाबा विनोद गौतम, आजमगढ़ से बीएल गौतम, लखनऊ से संजीत कुमार, संतोष कुमार, सनी सिद्धार्थ, अभिषेक अम्बेडकर, अजय कुमार, रिटा. पीसीएस अभयराज, रिटा.डिप्टी एसपी रामपाल सिंह ने अपने-अपने मंडलो में मण्डल सम्मेलन कराने की सहमति दी है।

आईपी रामबृज
एडवोकेट हाईकोर्ट