You are currently viewing FATEHPUR- पहाड़ीपुर ग्राम पंचायत के मनरेगा कार्य में मजदूरों का पैसा न मिलने से रोजगार सेवक को हटाने की मांग

पहाड़ीपुर ग्राम पंचायत के मनरेगा कार्य में मजदूरों का पैसा न मिलने से रोजगार सेवक को हटाने की मांग

ग्राम प्रधान सहित ग्रामीणों में भारी आक्रोश

बिंदकी फतेहपुर// जनपद के देवमई विकासखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत पहाड़ीपुर के मनरेगा कार्य में मजदूरों का पैसा ना मिलने से ग्रामीणों में भारी आक्रोश दिखाई दिया है वही ग्राम प्रधान सहित ग्रामीणों ने रोजगार सेवक के मनरेगा कार्य में धांधली से जनपद के आला अधिकारियों से ग्राम पंचायत से रोजगार सेवक को हटाने की मांग की है वही ग्रामीणों ने बताया कि मनरेगा कार्य गांव के मजदूरों ने किया था जिनका जॉब कार्ड बना हुआ है लेकिन अपनी ही मजदूरी का पैसा नहीं मिल पा रहा जिसके जिम्मेदार रोजगार सेवक है क्योंकि मनरेगा कार्य कराना और मजदूरों की हाजिरी लगाना रोजगार सेवक का काम है रोजगार सेवक की धांधली से परेशान ग्रामीणों ने हल्ला बोल दिया है ग्राम पंचायत पहाड़ीपुर के प्रधान शिव बाबू सहित ग्रामीणों ने आला अधिकारियों को लिखित शिकायत पत्र देते हुए रोजगार सेवक बंदना देवी पति राम बहादुर को हटाने की मांग की है वहीं ग्रामीणों का कहना है कि मजदूरों की हाजिरी में धांधली होती है जबकि ऐसे ही मामलों को लेकर ग्राम पंचायत पहाड़ीपुर में कई बार बैठक की गई लेकिन रोजगार सेवक का पति अपनी हरकतों से बाज नहीं आते है खुद पीछे हो जाती है और अपने पति राम बहादुर को हर एक मामले में आगे कर देती है अभी ग्राम पंचायत में हुई बैठक में आय आगंतुकों के साथ ग्राम प्रधान पहाड़ीपुर शिव बाबू आलमपुर प्रधान योगेंद्र सिंह यादव मथुरापुर प्रधान और पहाड़ीपुर पूर्व प्रधान सहित भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे लेकिन उसी दौरान बैठक में रोजगार सेवक के पति राम बहादुर ने अपना आपा खो दिया और मीटिंग में गाली गलौज शुरू कर दिया जिसको देखते ग्रामीणों में गुस्सा फूटा तो आए हुए आगंतुकों ने समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया ग्राम पंचायत में हो रही है ऐसी धांधली से विकास खंड अधिकारी आखिर चुप क्यों हैं या फिर जिले के आला अधिकारियों तक बात नहीं पहुंच पाई है क्या मजदूरों का पैसा जिम्मेदार अधिकारियों के द्वारा मिल पाएगा और ग्राम पंचायत पहाड़ीपुर में प्रधान समेत ग्रामीणों की मांग रोजगार सेवक को हटाने की पूरी हो पाएगी या जांच लगाई जाएगी या फिर मामले में पर्दा डाल दिया जाएगा