पनवाड़ी पुलिस पर वाहन चेकिंग के नाम पर 100 रुपये मांगने का गंभीर आरोप

जिम्मेदार उच्च अफसरों की चुप्पी संलिप्ता की कर रही पुष्टि -पुलिस की नैतिक शिक्षा कमजोर -पत्रकार रामलखन से फोन पर की अभद्र तरीके से बात -महोबा में चौथा स्तंभ खतरे में
महोबा/उत्तर प्रदेश के महोबा जनपद में पुलिस के भ्रष्टाचार चरम पर है अब पुलिस को पत्रकार दुश्मन की तरह लगने लगे हैं आम जनता तो सुरक्षित है ही नहीं इसके विपरीत इनके भ्रष्टाचार से चौथा स्तंभ भी अछूता नहीं रहा पुलिस पत्रकार से भी 100 -100 रुपये की रिश्वत मांगने से भी नहीं चूक रहे हैं इससे साफ स्पष्ट होता है कि अब पुलिस लुटेरे भिखारियों की तरह हरकत कर रहे हैं तो वहीं जिले के जिम्मेदार उच्च अफसरों को इसकी जानकारी ट्वीटर के माध्यम से दी गयी किन्तु भ्रष्ट पुलिस पर मेहरवान उच्च अफसरों ने अब तक कार्यवाही से अवगत नही करवाया जो इस भ्रष्टाचार में इनकी संलिप्तता की पुष्टि कर रहीं है आइये बता दें क्या है सम्पूर्ण प्रकरण आपको ज्ञात हो कोरोना काल में वाहन चैकिंग के नाम पर बेलगाम पनवाड़ी पुलिस का भ्रष्टाचारी चेहरा भी सुर्खियों मे है! चैकिंग दौरान बाहन चालक ने पुलिस पर सौ रूपये मागने का आरोप लगाया है पैसा ना देने पर पुलिस पर जबरन मोटर साइकिल छीन थाने ले जाने का गंभीर आरोप भी है जिसका एक ऑडिओ भी वायरल हुआ जिसमें पत्रकार और एसएचओ के बीच नोकझोंक के अंश स्पष्ट है!
क़स्बा निवासी दीपनारायण पुत्र परमानंद सोनी के मुताबिक बीते रोज मंगलवार को शाम करीब पांच बजे वह अपनी बाईक से बस स्टेण्ड जरूरी काम से जा रहा था राठ महोबा रोड पर पनवाड़ी थाने के एक सब इंस्पेक्टर पुलिस बल के साथ बाहन चैकिंग कर रहे थे बाईक सबार ने गमछे से अपने मुँह को ढक रखा था !
पुलिस ने बाहन चालक को रोका और पहले तो मास्क न पहनने की धमकी पर रौब झाड़ना शुरू किया लेकिन बाहन चालक ने जब गमछा से मुँह ढकने की बात कही तो साहब का पारा सातबे आसमान पर पहुंच गया और पुलिसिया रौब दिखाने लगे! युवक का आरोप है की चालान ना हो इसके एबज मे उससे सौ रूपये मांगे गए और जब उसने देने से इनकार कर दिया तो जबरन गाड़ी की चाबी छीन ली और बाईक को थाने ले गए!
इस संबंध मे जब समाजसेवी वा पत्रकार रामलखन सोनी ने प्रभारी निरीक्षक पनवाड़ी से बात की तो अपने सब इस्पेक्टर पर कार्यवाही करने की बात तो दूर उल्टा पत्रकार पर ही भड़क उठे और फ़ोन कट करने की नसीहत दे डाली मगर साहब की यह धमकी भरी नसीहत तब तक मोबाइल मे रिकॉर्ड हो चुकी थी पनवाड़ी पुलिस के इस तानाशाह रवैये से पनवाड़ी बासी खासे आक्रोशित है!