सतयुग में लोगों को रोजी-रोटी, न्याय-सुरक्षा मिलेगी, कोई तकलीफ नहीं होगी-बाबा उमाकान्त जी महाराज

लखनऊ
सतयुग में लोगों को रोजी-रोटी, न्याय-सुरक्षा मिलेगी, कोई तकलीफ नहीं होगी-बाबा उमाकान्त जी महाराज

उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ से देश-दुनियां को वैश्विक सन्देश देते हुए वर्तमान के पूरे सन्त सतगुरु बाबा उमाकान्त जी महाराज ने महाशिवरात्रि पर भक्तों के जनसैलाब को सन्देश देते हुए कहा कि जब सतयुग इस धरती पर आ जायेगा तब किसी को रहने-खाने की दिक्कत नहीं होगी। सबको न्याय-सुरक्षा मिलेगी। सबको रोजी-रोटी मिलेगी। सब लोग सुखी होंगे। तो प्रेमियों आप लोग सतयुग इस धरती पर ले आओ।

महाराज जी ने कहा हम चाहते हैं ज्यादा से ज्यादा लोग सतयुग देखे

महाराज जी प्रेमियों से आह्नान किया कि इस काम मे आप लोग लगो एक बार हम चाहते है। इस धरती पर कि आप सतयुग तो देख लो हालाकि कुछ लोग तो नहीं देख पाएंगे हम चाहते हैं ज्यादा से ज्यादा लोग देख लो लेकिन जब आप लोग सतयुग लाने का काम करोगे तभी तो देख पाओगे हर युग में हर युग का समावेश होता है।
देखो जब राक्षस यग्न कुंडों में मांस के टुकड़ों को काटकर के डालने लगे थे तब उस समय पर कलयुग त्रेता में था।

द्विज भोजन मख होम सराधा।
सब कै जाइ करहु तुम्ह बाधा।।

रामचंद्र बैठे त्रिलोका, हरषित भये
गये सब शोका।।

गुरु महाराज जी बराबर कहां करते थे कलयुग में कलयुग जाएगा कलयुग में सतयुग आएगा। वह प्रयास बराबर करते रहे।

प्रेमियों!बाप कोई मकान बनाते-बनाते दुनिया-संसार से चला तो बेटे पूरा करते है

प्रेमियों वह काम छोड़ कर के गए इसमें लगने की जरूरत है। बाप मकान बनावे, बनाते
-बनाते छोड़ कर के चला जाए दुनिया-संसार से तो क्या बेटे उसको नहीं बनाते हैं। गुरु का मिशन पूरा करो।

एक दाने-दाने में नमक डालने के बजाय पतीले में क्यों नही डाल देते हो। एक आदमी को सुख सुविधा दिलाने में कहां तक कामयाब हो पाओगे अगर सारे सुख-सुविधा प्रकृति की तरफ से इस धरती पर ही उतर आवे तो सब को सुख सुविधाएं मिल जाएंगी।

प्रेमियों! से आह्वान सतयुग के लायक लोगों को बनाओ

महाराज जी ने बताया रही बात सतयुग आने की तो आ जाएगा लेकिन यह भी देखा गया जब जब युग का बदला तो मरते बहुत हैं त्रेता जब गया तो बहुत मरे, द्वापर जब गया तो बहुत मरे, कलयुग जब जायेगा तो क्या बचेंगे? बहुत मरेंगे। सब मर ही जाए और सतयुग आ जाए, गाजे बाजे के साथ आ जाए राज सिंहासन पर बैठ करके आ जाए तो आकर क्या करेगा? कौन लाभ उठा पाएगा? इसलिए सतयुग के योग्य लोगों को बनाओ। आप लोग अपने-अपने स्तर पर जो जितना कर सकते हो पढ़े-लिखे लोग, अनपढ़ लोगों, हर तरह के गरीब हो, अमीर हो, बुद्धिजीवी लोग, कम बुद्धि वाले लोग हो सब लोग अपनी ताकत अच्छे समय से आने में लगा।

*शाकाहारी,सदाचारी नशामुक्त लोग बन गये तो सतयुग देखने के लायक बन जायेंगे

महाराज ने जी कहा अगर अगर शाकाहारी, सदाचारी, नशा मुक्त लोग हो गए तो समझ लो सतयुग देखने के लायक हो जाएंगे।
।।जयगुरुदेव।।

परम सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज।।
आश्रम उज्जैन मध्यप्रदेश।।
भारत।।