किसान सम्मान जैसी योजना शुरू करने वाले पीएम मोदी किसानों का अहित सोच भी नहीं सकते : कैलाश चौधरी

जयपुर

किसान सम्मान जैसी योजना शुरू करने वाले पीएम मोदी किसानों का अहित सोच भी नहीं सकते : कैलाश चौधरी

किसानों को आश्वस्त करते हुए केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि जो प्रधानमंत्री मोदी किसानों की माली हालत सुधारने के लिए पीएम-किसान सम्मान निधि जैसी योजना शुरू करते हैं, वे उनका अहित करना तो दूर ऐसा कभी सोच भी नहीं सकते

दिल्ली/जयपुर

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के आंदोलन के बीच केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने किसानों से अपील की है। कृषि राज्यमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार विभिन्न क्षेत्रों में सर्वांगीण विकास के बीच खड़ी बाधाएं हटा रही है। इन सुधारों के बाद किसानों को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, देश का कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर आधुनिक होगा। साथ ही कैलाश चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार एक बार फिर से किसान संगठनों से सकारात्मक और सौहार्दपूर्ण बातचीत की कोशिश में है।

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने फिर एक बार किसानों को नए कृषि कानूनों के फायदे गिनाते हुए कहा कि कृषि क्षेत्र और उससे जुड़े अन्य सेक्टर जैसे एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर, फ़ूड प्रोसेसिंग, स्टोरेज या कोल्ड चैन हो इनके बीच हमने विभिन्न कानूनी अड़चनें देखी हैं। अब सभी बाधाएं हटाई जा रही हैं। इन सुधारों के बाद सबसे ज्यादा निवेश कृषि क्षेत्र में होगा। इसका सबसे ज्यादा फायदा मेरे देश के अन्नदाता किसान को होने वाला है। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि आज देश के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ ही बाहर भी बेचने का विकल्प है। मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया है। इन सारे प्रयासों का लक्ष्य यही है कि किसानों की आय बढ़े, देश का किसान समृद्ध हो। जब देश का किसान समृद्ध होगा तो देश भी समृद्ध होगा

बयूरो रिपोर्ट ललित दवे