You are currently viewing प्रेमियों वैचारिक क्रांति द्वारा परिवर्तन लाकर लोगों को बनाओ शाकाहारी

जय गुरु देव

03.10.2021
प्रेस नोट

सतसंग स्थान: इंदौर, म.प्र.
सतसंग दिनांक: 02.10.2021

आगे ऐसा समय आएगा कि संसार जयगुरुदेवमय हो जाएगा

प्रेमियों वैचारिक क्रांति द्वारा परिवर्तन लाकर लोगों को बनाओ शाकाहारी

विश्वविख्यात परम् सन्त और देश- विदेश में शाकाहार, सदाचार, नशामुक्ति और कलयुग में प्रभु के जाग्रत और पूरी ताकत वाले नाम- जयगुरुदेव का प्रचार करने वाले उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने गांधी जयंती के अवसर पर अपने इंदौर आश्रम से देश और दुनिया के लोगों से शाकाहारी, नशामुक्त बनने का आह्वान करते हुए यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम पर प्रसारित संदेश में बताया कि प्रेमियों आप लोग मांसाहार बंद नहीं कर सकते हो, न करा सकते हो क्योंकि हड़ताल, तोड़फोड़, धरना-घेराव, हिंसक तरीके के लिए आपको मना किया जा रहा है। लेकिन लोगों को समझा कर, विचारों में परिवर्तन लाकर, लोगों को शाकाहारी तो बना ही सकते हो।

मांस, मछली, अंडा की दुकान बंद करके कोई दूसरा व्यापार करेंगे तो उसमें प्रभु सबको बरकत देंगे

महाराज जी ने कहा कि सब अगर शाकाहारी हो जाएं तो मांस, अंडे, मछली की दुकानें अपने आप बंद हो जाएंगी। कोई दूसरा धंधा करने लगेंगे तो सबको देने वाला प्रभु उनको भी देने लगेगा जब मेहनत ईमानदारी की कमाई करेंगे तो उनको और बच्चों को भी दोनों समय रोटी मिलेगी।

नशे में आदमी कब देश को बेच दे, कब व्यभिचार कर दे, उसका कोई भरोसा नहीं

प्रेमियों! शाकाहारी रहना। साग-सब्जी, दूध, घी जितना हजम कर सको खूब खाओ लेकिन जब भजन करने लगोगे तो आपको बरकत मिलने लग जाएगी। अंडा, मछली, मांस, शराब नहीं खाना-पीना है। शराब जैसे बुद्धि नाशक नशा का सेवन नहीं करना है। देखो शराब, गांजा, कोकीन, अफीम पीकर, नशीली गोलियां खा कर आदमी होश में नहीं रह जाता है। नशीले आदमी का कोई भरोसा नहीं है, कब झूठ बोले, कब बेईमानी-व्यभिचार कर बैठे, कब देश, घर, औरत के जेवर बेच दे। उसका कोई ठिकाना नहीं की कब किसके घर के बहन बेटियों के साथ बुरा कर्म कर बैठे, संपत्ति धन को लेकर के चला जाए, कोई भरोसा नहीं है।

*देश में जितने भी अपराध हो रहे हैं सब शराब-मांस के खान-पान की वजह से हो रहे हैं तो इनसे आप अब हो जाओ दूर। अब आपका शरीर अपराधी न बनने पावे।

आदमी दूसरे औरत और बच्चियों दूसरे पुरुष के साथ बुरा कर मत करना। किसी से गलती बन गई हो तो उस मालिक से मांग लो माफी

देखो मांस मछली अंडा शराब मत खाना-पीना और दूसरी औरत के साथ बुरा कर्म मत करना। बच्चियों! अब कभी भी दूसरे पुरुष के साथ बुरा कर्म मत करना। अभी तक मान लो जो जान-अनजान में गलती हो गई उसके लिए उस प्रभु से माफी मांग लो। वह दीनबंधु दीनानाथ है। जब सब पर दया करता है तो आप पर भी दया करेगा। लेकिन दोबारा जब गलती करोगे, जान करके तब वह फिर मुख मोड़ लेगा तब तो..

गुरु माथे से उतरे, शब्द बिहू न होय।
ताकौ काल घसिटिये, बचा सके न कोय।।

फिर काल रगडाई कर देगा। यह भी बता देते हैं आपको। फिर मत कहना कि हम नाम दानी हैं, हमको यह तकलीफ हो गई। अब गलती मत करना।

आगे ऐसा समय आएगा कि संसार जयगुरुदेवमय हो जाएगा

ये सब बीमारियां इसी वजह से बढ़ रही हैं। अभी आपने क्या देखा है? अभी तो ऐसी-ऐसी बीमारियां आएंगी कि एक मिनट में भगवान याद आ जाएगा। जैसे कोरोना मैं देखो सब तो बस भगवान के भरोसे हो गए। जो नास्तिक लोग थे वह भी भगवान को याद करने लग गए। एक बार तो तकलीफ बढ़ेगी, उसके बाद जब अच्छा समय आ जाएगा तब (अंड) लोक की इतनी जीवात्मा यहां उतार दी जाएंगी कि एकदम भजनानन्दियों का बिल्कुल माहौल हो जाएगा जिसको कहते हैं कि एकदम जयगुरुदेव मय संसार हो जाएगा। ऐसा समय आएगा। आज बता करके जा रहा हूं लेकिन बीच का समय बड़ा ही तकलीफदेय होगा। इसमें जो बच जाएगा वह अच्छे समय को देख लेगा। तो प्रेमियों अब यह गलती जो आपसे किसी से बन गई हो, अब मत गलती करना।