किसान विधेयक वापसी की मांग को लेकर सकिपा का प्रदेशन, सौंपा ज्ञापन

किसान विधेयक वापसी की मांग को लेकर सकिपा का प्रदेशन, सौंपा ज्ञापन

किसानों के जर, जमीन, जमीर से खेल रही है केंद्र सरकार

समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में जिला अध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी की अगुवाई में जिला मुख्यालय मंझनपुर में किसान विधेयक वापसी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया गया और केंद्र सरकार को संबोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया। सौंपे गए ज्ञापन में किसानों ने केंद्र सरकार से मांग किया कि किसानों के हित में तत्काल तीनों किसान विधेयकों को वापस लिया जाए। पार्टी जिलाध्यक्ष के साथ पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्टर कार्यालय में जोरदार नारेबाजी करते हुए केंद्र सरकार से किसानों के हित में काम करने मांग की।

इसके पूर्व पार्टी के जिला कार्यालय मंझनपुर में किसानों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रेम चन्द्र केसरवानी ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के जर, जमीन, जमीर से खेल रही है और देश के बड़े उद्योगपतियों के इशारे पर करोड़ों किसान को मारने पर उतारू है।

युवा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश यादव ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार द्वारा तीनों किसान विधेयकों को वापस नहीं लिया जाता, किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। आगे कहा कि केंद्र सरकार किसानों से वोट लेकर किसानों का ही शोषण कर रही है और आने वाले चुनाव में किसान इसका सबक जरूर सिखाएगा।

इस अवसर पर अमृत लाल केसरवानी, राम आसरे सरोज, राम सूचित पाल, मानसिंह पाल, अली रजा, सरूख अहमद, सुनीता पटेल, गीता सरोज समेत कई लोग मौजूद रहे।