पीडब्ल्यूडी के जेई की लापरवाही से युवक की गंगानदी में गिरकर हुई मौत

मेजा /प्रयागराज

पीडब्ल्यूडी के जेई की लापरवाही से युवक की गंगानदी में गिरकर हुई मौत

यूपी फाइट टाइम्स न्यूज

निर्माणाधीन अधूरे पांटून पुल को दिखा दिया हरी झंडी

मेजा, प्रयागराज क्षेत्र के सिरसा गंगानदी फेरी घाट पर निर्माणाधीन पांटून पुल के अधिकारी (जेई) की लापरवाही की भेंट चढ़ गया युवक। बतादे कि सिरसा गंगा घाट पर पांटून पुल बनने से जहां क्षेत्रीय लोगों को सहूलियत मिलती है, वही विभागीय अधिकारी की लापरवाही की वजह से एक युवक गंगा नदी में समाहित हो गया। मिली जानकारी के अनुसार मेजा थाना क्षेत्र के निबैया गांव निवासी रामतिलक (60) अपने भतीजे मुकेश (22) के साथ हड़िया थाना क्षेत्र के दुलापुर रिश्तेदारी में गया हुआ था। शनिवार शाम 9 बजे दोनों बाइक से घर की तरफ आ रहे थे। जैसे ही सिरसा पांटून पुल पर बेतरतीब बिछाये गये चेकर्ड प्लेट में फंसकर बाइक सवार गंगा नदी में अनियंत्रित होकर जा गिरा।
गनीमत रही की रामतिलक रस्सियों के सहारे बाहर निकल आये, लेकिन भतीजा मुकेश गहरे पानी में समा गया। घटना की जानकारी होने पर परिजनों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में परिजन घटना की ओर दौड़ पड़े रात्रि होने की वजह से खोजबीन करते रहे लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। सुबह पुलिसकर्मियों व एनडीआरएफ की टीम की मदद से घंटों मशक्कत के बाद से गंगानदी से युवक का शव निकाला गया।परिजनों का आरोप है कि अगर पांटून पुल पर रेलिंग सहित अन्य व्यवस्थाएं करवाने के बाद पुल चालू किया गया होता तो शायद यह जानलेवा दुर्घटना न हुई होती। नाराज परिजनों ने शव को पांटून पुल पर रखकर चक्काजाम करते हुए मुआवजे की मांग पर अड़े रहे। देखा जाए तो ठेकेदार के मनाही के बावजूद जेई ने आधे-अधूरे पांटून पुल पर आवागमन शुरू करा दिया था, जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। जबकि इससे पूर्व दो बार खबरें प्रकाशित की गई थी। शायद विभागीय अधिकारी मामले का संज्ञान लिये होते तो शायद आज यह घटना न घटित होती।

संवाददाता -रामबाबू पटेल व्यूरोचीफ करछना प्रयागराज से UFT NEWS 24& हिन्दी दैनिक समाचार