You are currently viewing धनुष यज्ञ की लीला देख भावविभोर हुए रामभक्त

धनुष यज्ञ की लीला देख भावविभोर हुए रामभक्त

राजा जनक द्वारा धरती वीरों से विहीन सुनने पर कुपित हुए लक्ष्मण

सिराथू तहसील के गांव उदहिन बुजुर्ग में चल रही रामलीला के तीसरे दिन भगवान राम भाई लक्ष्मण जी द्वारा संध्या वदन करने के साथ शुरू हुई। तत्पश्चात जनकपुर में आयोजित सीता स्वयंवर में रावण वाणासुर संवाद और नवरस की झांकी का कार्यक्रम हुआ।

सीता स्वयंवर पर जनक जी द्वारा शिव धनुष तोड़ने की शर्त सुनकर देश विदेश से आए तमाम राजाओंं महाराजाओं ने शिव धनुष तोड़ने का संपूर्ण प्रयास किया परंतु शिव धनुष को कोई राजा हिला तक नहीं पाया। इससे राजा जनक बहुत दुखी हुए और विलाप करते हुए कहने लगे कि शायद धरती वीरों से विहीन हो गई है। अब सीता का विवाह किससे होगा?

राजा जनक द्वारा भरी सभा में यह कहना कि धरती वीरों से विहीन हो गई है, लक्ष्मण जी को बहुत नागवार गुजरा और यह सुनकर लक्ष्मण जी राजा जनक पर कुपित हो गए। लक्ष्मण जी ने कुपित होकर राजा जनक से कहा कि महाराज जनक आप चुप हो जाएं। शायद आप को यह नहीं ज्ञात है कि आपकी सभा में सूर्यवंशी, रघुवंशी श्रीराम बैठे हैं। आप ऐसा कहकर हमारे सूर्यवंश का अपमान कर रहे हैं, जो हमें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं होगा। प्रभु श्रीराम के रहते आपने यह कैसे कह दिया कि धरती वीरों से विहीन हो गई है। आगे कहा कि महाराज जनक, प्रभु श्रीराम के लिए यह धनुष तोड़ना कौन सा मुश्किल काम है?

अंत में प्रभु श्रीराम जी के समझाने पर लक्ष्मण जी शांत हुए और गुरु विश्वामित्र जी की आज्ञा पाकर भगवान श्री राम जी ने शिव धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाकर झट से तोड़ दिया और देवलोक से देवताओं ने पुष्पवर्षा की। इसी के साथ माता सीता ने प्रभु श्रीराम जी के गले में वर माला पहनाई और लोगों ने सीताराम जी के देर तक जयकारे लगाए।

कार्यक्रम संयोजक समर्थ किसान पार्टी के नेता अजय सोनी ने आई हुई जनता जनार्दन का स्वागत करते हुए कहा कि जिस तरह भगवान श्री राम ने अपना जीवन बड़े ही सादगी और मर्यादा से निभाया था, उसी प्रकार हमें भी अपना जीवन व्यतीत करना चाहिए।रामलीला देखने भाजपा नेता प्रशांत केशरी और रामलीला कमेटी सिराथू के अध्यक्ष हरिमोहन वर्मा भी पधारे और भगवान की आरती की। इस अवसर पर प्रशांत केशरी ने उपस्थित भक्तजनों से राम नाम सुमिरन का जीवन में क्या महत्व है, यह बताया।

रामलीला कार्यक्रम के तीसरे दिन नरेंद्र दुबे, श्याम लाल फोटोग्राफर, शिव सिंह किराना, रवि मौर्य, टिंकू मौर्य, बृजेन्द्र तिवारी, विनोद कुमार दिवाकर, अकील अहमद आदि मौजूद रहे।