You are currently viewing FATEHPUR- रावण वध के साथ ही किशनपुर का रामलीला हुआ संपन्न

रावण वध के साथ ही किशनपुर का रामलीला हुआ संपन्न

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

किशनपुर/फतेहपुर– किशनपुर कस्बे में होने वाला किशनपुर महोत्सव आज सकुशल संपन्न हुआ परमहंस श्री फाल्गुन गिरी महाराज ने आज से 237 वर्ष पहले इस महोत्सव की शुरुआत की थी। जो कि समय के साथ हर वर्ष अधिक मजबूती और भव्यता के साथ होता है,इसी कड़ी में आज की रामलीला में रावण वध की लीला का मंचन हुआ जिसमें भगवान राम भैया लक्ष्मण ने इंद्रजीत,कुंभकरण, रावण आदि सभी दैत्य को समाप्त कर लंका पर विजय प्राप्त की खुशी पर देवताओं ने भी आकाश से पुष्प वर्षा की, इसके बाद किशनपुर रामलीला की दो अभिन्न शाखाएं हनुमानगढ़ी और रामगढ़ी इन दोनों गढ़ियों का बृहद जलूस निकला जिसको देखने के लिए क्षेत्र ही नहीं अपितु आसपास के जिलों से भी दर्शक आए हनुमानगढ़ी की सबसे पहली चौकी संकट मोचन हनुमान की थी जिसकी पूजा अर्चना रामलीला अध्यक्ष राजेन्द्र मिश्रा और अन्य कार्यकर्ताओं ने की इसके बाद से झांकियां निकली जिसमें की कोरोना से बचाव, रक्तदान,भारत माता की रक्षा करते हुए वीर सैनिक, सूर्य भगवान,दुर्गा जी,वीर अभिमन्यु, राधा कृष्ण,मां काली सहित कई झांकियां थी जिन को देखकर दर्शक प्रशंसा करते नहीं थक रहे थे।
इसके बाद रामगढ़ी की झांकियां निकला प्रारंभ हुई जिसमें कि सबसे पहले भगवान गणेश की झांकी उसके पश्चात परमहंस श्री फाल्गुन जी महाराज की झांकियां थी जिनकी पूजा अर्चना क्रमशः रामलीला अध्यक्ष राजेंद्र मिश्रा सहयोगी कुमार सिंह भगवान के रथ के सारथी बालाजी अग्रवाल,राम कृष्ण सुजीत अग्रवाल, रामबाबू जायसवाल ,इन लोगों ने अपनी इसके बाद रामगढ़ी की झांकियां निकालना शुरू हुआ जिसमें दुर्गा जी, काली जी, जालंधर वध, महिषासुर मर्दिनी मां दुर्गा, कुंभकरण विभीषण संवाद ,ॐ से शुरूआत ॐ से समाप्त ओंकार, आदि झांकियां दर्शकों को मंत्रमुग्ध करती नजर आई ।
इन सभी झांकियों को सजाने में कोई भी व्यक्ति मझा हुआ कलाकार नहीं था सभी किशनपुर कस्बे के स्थानीय निवासी थे जो बाबा के मेले में सेवा और भक्ति भाव से इस कार्य को करते हैं। लेकिन बाबा की कृपा से इतनी साफ-सफाई और भव्यता रहती है कि देखने वाले यही कहते हैं यह किसी मझे हुए कलाकार के द्वारा बनाई गई झांकियां है।
रामगढ़ी अध्यक्ष धनंजय सिंह हनुमानगढ़ी अध्यक्ष नितिन सिंह और दोनों गाढियों के कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम से आज इतना बृहद जुलूस दर्शकों को देखने के लिए मिला है।
सबसे खास बात यह रही कि किशनपुर कस्बे आने वाले समस्त मार्गों को रामलीला अध्यक्ष के द्वारा सैनिटाइजेशन करवाया गया था किसी भी मार्ग से आने वाला व्यक्ति बिना सेनीटाइज हुए रामलीला प्रांगण में नहीं पहुंच सकता था। इस प्रकार बाबा की कृपा और आशीर्वाद से बहुप्रतीक्षित रावण वध की लीला रामगढी और हनुमानगढ़ी का वृहद जुलूस सकुशल संपन्न हुआ।
रामलीला अध्यक्ष ने बताया कि आने वाले सोमवार को राष्ट्रीय स्तर के कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा जिसमें की मुख्य कवि अखिलेश द्विवेदी रहेंगे उस दिन रामगढ़ी और हनुमानगढ़ी से अद्भुत घायल का भी प्रदर्शन लोगों को दिखाया जाता है जो पूरे भारत में केवल किशनपुर कस्बे की रामलीला की एक अनूठी कला है जिसको देखने के गैर प्रांतों से भी लोग आते हैं। वही साथ ही साथ उन्होंने बताया कि जो दंगल का आयोजन रामलीला के द्वारा कराया जाता है उसमें अबकी बार प्रदेश स्तर के पहलवान और महिला पहलवानों की कुश्ती दिखाई जाएगी।