रानीजोत के भ्रष्ट ग्राम पंचायत अधिकारी हरी नारायण सिंह का काला कारनामा

रानीजोत के भ्रष्ट ग्राम पंचायत अधिकारी हरी नारायण सिंह का काला कारनामा

जिला संवाददाता अरुण त्रिपाठी

रानीजोत (अरुण त्रिपाठी): छपिया ब्लाक के ग्राम पंचायत रानीजोत में तैनात ग्राम पंचायत सचिव हरिनारायण सिंह की दबंगई आई दिन रुकने का नाम नहीं ले रहा है, कभी पत्रकारों के साथ बदसलूकी करते हैं, तो कभी ग्रामीणों के शौचालय प्रोत्साहन राशि देने के नाम पर अवैध वसूली करते हैं। ग्राम पंचायत हरिनारायण सिंह पर भ्रष्टाचार में संलिप्त सहायक विकास अधिकारी पंचायत कनिक राम वर्मा तथा खंड विकास अधिकारी सर्वेश कुमार से सांठ-गांठ करके 5 से अधिक ग्राम पंचायत की बागडोर भ्रष्टाचार में संलिप्त हरिनारायण सिंह के हाथों में सौंप दी गई है। अधिकतम ग्राम पंचायत अधिकारियों के पास दो से अधिक ग्राम पंचायत का चार्ज नहीं है, आए दिन इसके द्वारा घूम-घूम कर क्षेत्र की जनता से मारपीट की जाती है। जब इसके विरुद्ध कोई शिकायत एवं कंप्लेंट होती है, तो खंड विकास अधिकारी द्वारा पूर्व से ही भ्रष्टाचार में संलिप्त कनिक राम वर्मा सहायक विकास अधिकारी पंचायत को जांच अधिकारी नामित कर दिया जाता है, और वह लीपा-पोती कर के अधिकतर मामले को रफा-दफा कर देता है। जबकि हमारे देश के प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार को खत्म करने की तरफ अग्रसर है, इसके द्वारा पूर्व में भी भ्रष्टाचार की आवाज उठाने वाले समाजसेवी अखलाक अहमद से भी मारपीट कर चुका है। जब भी कोई व्यक्ति इसके विरूद्ध कोई शिकायत देता है, तो यह पैसे पर अपने साथ लेकर चलने वाले गुंडों को लेकर फौजदारी पर उतारू हो जाता है। क्योंकि इसके द्वारा 5 ग्राम पंचायतों से अवैध रूप से वसूली की जा रही है, उक्त प्रकरण पर जब खंड विकास अधिकारी से वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि 3 सदस्यों की जांच टीम गठित कर हरिनारायण नामक भ्रष्ट सचिव के विरुद्ध जांचकर कार्यवाही की जाएगी।
सेक्रेटरी के काले कारनामे को यूपी फाइट टाइम के ब्यूरो चीफ ने चैनल पर कई बार उजागर कर चुके हैं। खबर से नाराज होकर इसके द्वारा पत्रकार पे किया गया जानलेवा हमला।

पत्रकारों द्वारा उक्त प्रकरण पर जिला पंचायत राज अधिकारी से वार्ता की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि उक्त प्रकरण को संज्ञान में लिया गया है इसके विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

सेक्रेटरी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही ना होने पर छपिया क्षेत्र के पत्रकार करेंगे धरना प्रदर्शन।

पुलिस अधीक्षक गोंडा ने लिया मामले को संज्ञान में।

Leave a Reply