कोरोना काल मे झोलाछाप डाक्टरो की है– बल्ले बल्ले

ब्यूरो चीफ आर पी यादव

कौशाम्बी मंझनपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत महावा में बीते तीन दशक से एक चर्चित झोलाछाप डॉक्टर की दुकान क्लीनिक सज रही है इस दुकान में सैंकड़ों लोगों की भीड़ लगती है और जिन का इलाज अशिक्षित अकुशल अनट्रेंड अनरजिस्टर्ड चिकित्सक द्वारा किया जाता है

कोरोनावायरस की महामारी में पूरे देश में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार लोगों को बार-बार सचेत कर रही है लेकिन झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक दुकान में सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं हो रहा है इतना ही नहीं उक्त डॉक्टर के पास बताया जाता है कि इलाज करने का पर्याप्त आधार और डिग्री भी नहीं है

लेकिन फिर भी स्वास्थ्य महकमे के जिम्मेदारों के रहमों करम पर बीते तीन दशक से यह क्लीनिक अवैध तरीके से चल रही है जो स्वास्थ्य व्यवस्था पर बड़ा सवाल है इस बारे शासन प्रशासन को संज्ञान लेना होगा जिससे चिकित्सक के तमाम काले कारनामे उजागर हो सके