भारत चीन हिंसक झड़प में शहीद हुए कुंदन के परिवार से मिलने पहुँचे कई आला अधिकारी ।

भारत और चीन के हिंसक झड़प में सीमा पर तैनात बिहार के सहरसा जिले के सत्तर कटैया प्रखंड के आरन गांव के लाल कुंदन कुमार शहीद हो गए। चीनी सैनिकों के साथ झड़प में वीर सपूत कुंदन कुमार ने सीमा की रक्षा करते हुए अपनी जान की कुर्बानी दे दी। शहीद के परिवार वालों को जब इसकी जानकारी मिली तो पुरे परिवार में मातम पसर गया वहीं परिवार वालों का रो – रो कर बुरा हाल है। शहीद कुंदन कुमार के पिता पेशे से किसान निमेन्द्र यादव अपने बेटे के खो जाने से काफी मर्मांहत हैं। वहीं जैसे ही गांव के लाल के शहीद होने की खबर लोगों को मिली लोगों की भीड़ शहीद के घर पर जुटने लगी गांव के लोग परिवार वालों को संतावना दे रहे हैं। शहीद के पिता निमेन्द्र यादव ने बताया कि उनके बेटे के शहीद होने की जानकारी उन्हें सेना के अधिकारी ने फोन से दी है।

आपको बता दें कि शहीद कुंदन कुमार 2012 में सेना में भर्ती हुए थे और लद्दाख में पोस्टेड थे। शहीद कुंदन कुमार के दो छोटे छोटे बच्चे हैं पत्नी का रो रो कर बुरा हाल है। वहीं गांव के लोगों को अपने लाल के खोने का गम तो है ही साथ ही देश के लिए कुर्बानी देने वाले वीर सपूत पर फक्र भी है वहीं जिले के आला अधिकारी कोशी रेंज के डीआईजी सुरेश चौधरी, जिला अधिकारी कौशल कुमार, एसपी राकेश कुमार, एसडीओ,एसडीपीओ विधायक अरुण कुमार समेत कई आला अधिकारी शहीद कुंदन कुमार के गांव आरण पहुँचे।