You are currently viewing FATEHPUR- नरेगा में कार्य के दौरान नाबालिग बालिकाओं के हाथ में दिखा फावड़ा

नरेगा में कार्य के दौरान नाबालिग बालिकाओं के हाथ में दिखा फावड़ा

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर(ब्यूरो)- विकासखंड धाता के मुबारकपुर गेरिया गांव में प्रधान रोजगार सेवक एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारी की आपसी खींचतान एवं लापरवाही के चलते जहां गांव के विकास में रोड़ा आ रहा है वहीं 14 साल की उन बालिकाओं को नरेगा के काम में मजदूरी में लगाया जा रहा है जिन्हें विद्यालय में होना चाहिए था मुबारकपुर गेरिया में प्रधान, प्रधान सेवक एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारी में किसी बात को लेकर खींचतान मची हुई है। जिसके चलते प्रधान सेवक की मनमानी के कारण 14 साल की बच्चियों को नरेगा के काम में लगाया जा रहा है स्थिति यह है कि मजदूर कम मिलने की वजह से घर के सभी सदस्यों को बुलाकर उन्हें काम में लगा लिया जा रहा है अब उसके पीछे क्या चल रहा है यह तो वही जाने लेकिन यह ठीक नहीं है कि विद्यालय जाने वाली बच्चियों से नरेगा में मजदूरी कराई जाय इसकी उच्च अधिकारियों से जांच कराई जानी चाहिए इसमें एक कारण यह भी हो सकता है कि इन बच्चों की मजदूरी खाऊ कमाऊ नीति के चलते हड़प ली जाती हो क्योंकि अगर बच्चे 14 साल के हैं तो क्या उनके खाते में नरेगा का पैसा डाला जाता है और यदि उनके खाते में पैसा नहीं डाला गया तो उनका पैसा कहां गया हालांकि यह सर्वविदित है कि धुआंधार घपलेबाजी की जाती है अच्छा होता प्रधान सेवक ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी जिन्हें गांव के विकास का जिम्मा सौंपा गया है वह अपनी अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए ग्राम विकास में ध्यान देते लेकिन आज यह स्थिति बन गई है कि सब लोग अपने अपने अहम को लेकर डटे हुए हैं। कोई भी पीछे जाने को तैयार नहीं यहां तक कि फोन से आई ऑडियो में सभी एक दूसरे को धमकी दे रहे हैैं साथ ही प्रधान को दरकिनार कर ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एवं प्रधान सेवक मिलकर सरकारी धन का बंदरबांट कर रहे हैं सभी लोग एक दूसरे को इसके लिए भी दोषी ठहरा रहे हैं कि यह मामला पत्रकारों के पास कैसे पहुंचा किसी की मिलीभगत से तो ऐसा नहीं हो रहा वहीं मामले को लेकर खंड विकास अधिकारी मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है इसकी जांच कराई जा रही है||