यूपी फाइट टाइम्स

श्रावस्ती,तहसील जमुनहा के अंतर्गत जमुनहा बाजार के व्यापारियों ने उपजिलाधिकारी जमुनहा के मनमानी तरीके से चालान राशि अधिक काटने का लगाया आरोप। व्यापारियों ने कोविड 19 के सम्बन्द्व में उपजिलाधिकारी जमुनहा के द्वारा आये दिन मनमाने ढंग से चालान काटकर व्यापारियों को तंग किया जा रहा है। जबकि उ0प्र0 कोविड-19 (द्वितीय संशोधन) विनियमावली, 2020 के अंतर्गत अपराध का चालान/ जुर्माना पत्र में धारा 15(3) प्रथम व द्वितीय बार का 100सौ रुपये के स्थान पर 500 सौ रुपये जबरन लिया जा रहा है। तथा न देने की स्थिति में कठोर व अपशब्द भाषा का प्रयोग किया जाता है। वही व्यापारियों के द्वारा कोविड 19 का शासन द्वारा निर्धारित दिशा निर्देशों का सही ढंग से व्यापारियों द्वारा पालन किया जा रहा है। जिसके सन्दर्भ में व्यापारियों ने जिलाधिकारी श्रावस्ती को उपजिलाधिकारी जमुनहा के खिलाफ प्रार्थना पत्र देकर इस तरीके से व्यापारियों को प्रताड़ित से मुक्ति दिलवाने के लिए प्रदर्शन कर विरोध जता रहे है।व्यापारियों का कहना है कि कोरोनो महामारी ने वैसे ही व्यापारियों की कमर तोड़ डाली है उसके बाद अगर इस तरह से जुर्माने के रूप में500रुपये देने पड़ेंगे तो व्यापारी फिर क्या करेगा इस समय दुकान पर ग्राहकों के कम आने से दुकानदारी बिल्कुल नहीं के बराबर है और अगर किसी तरह से किसी के दुकान पर कुछ बिक्री हो भी जाये तो फिर इसमें परिवार का खर्चा भी निकालना पड़ता है कुछ दुकानदारों ने बताया कि चालान के रूप में पैसे देने के लिए हमने घर में रख्खे गुल्लक को तोड़ कर पैसे दिए हैं क्योंकि अगर पैसे न दे तो अधिकारी मुकदमा लिखवाने की धमकी देते हुए व्यापारियों को परेशान करते हैं इसी के संम्बंध में व्यापारियों ने जिलाधिकारी श्रावस्ती को लेटर के माध्यम से प्राथना पत्र देकर व्यापारियों के बारे में भी कुछ ध्यान देने की बात कही है इस मौके पर सन्तोष कुमार, जमील अहमद, शेर अली, रामपाल वर्मा, मनोज गुप्ता, धनीराम सोनी, रामू सोनी, विजय सोनी, जमशेद अहमद, शमशाद अहमद, सोहरत मतीन रज्जू, शब्बू, सकील अहमद, अब्दुल्ला सिदिकी, किशन गुप्ता आदि कई दर्जनों लोग उपस्थित रहे।