तो इसलिए बलरामपुर एसपी रहते हैं चर्चा में

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

बलरामपुर— जिले में कानून व्यवस्था की कमान S.P. के कंधों पर है। चर्चा है कि पुलिस अधीक्षक देवरंजन वर्मा (I.P.S.) के तैनाती के बाद से ही अपराधों पर तेजी से अंकुश लगा है। जिले के शातिर अपराधी या तो जिला छोड़कर भाग गये या फिर सलाखों के पीछे पहुँच गयें हैं। जिले के प्रबुद्ध लोगों के मुताबिक एसपी के चौखट पर पहुँचने वाले सभी फरियादियों को न्याय मिलना तय रहता है। पुलिस महकमा में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर एसपी ने उपनिरीक्षक समेत कई पुलिस कर्मियों के विरूद्ध अभी हाल में कड़ी कार्यवाही भी की है। कर्तव्यों के प्रति लापरवाही बरतने वाले S.H.O. पर विभागीय कार्यवाही होने की बात कही जा रही है। बीते दिनों में नागरिक संसोधन कानून पास होने के बाद बलरामपुर पुलिस प्रशासन ने शांति व्यवस्था बनाये रखने का सराहनीय कार्य किया है, इस कार्य को लेकर एसपी का जगह-जगह सम्मान हुआ है। वर्तमान में सरकारी गाइड लाइन का पालन कराते हुए पुलिस महकमा कोरोना संक्रमण से बचने के लिए जन जागरूकता अभियान चला रहा है, जो किसी से छिपा नही है। पुलिस के सक्रियता के चलते जिले में अवैध पेड़ो का कटान व अवैध बालू खनन पर काफी हद तक नियंत्रण हुआ है। यही नही यूपी के मुख्यमंत्री जिले में कई बार भ्रमण पर आ चुके हैं लेकिन एसपी और डीएम के कार्यों से संतुष्ट नजर आये हैं।