युवा रचनाकारों (18 से 30 वर्ष) को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से कहानी, कविता एवं निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन-जिलाधिकारी

यूपी फाइट टाइम्स से राधेश्याम गुप्ता की रिपोर्ट

बलरामपुर। जिलाधिकारी बलरामपुर कृष्णा करुणेश ने बताया कि उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान उ0प्र0 शासन की भाषा विभाग के नियंत्रणधीन एक स्वायत्तशासी संस्था है, जिसका मुख्य उद्देश्य प्रदेश में हिन्दी भाषा का प्रचार एवं प्रसार करना है। उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान का एकल कार्यालय लखनऊ में स्थित है। उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार के अतिरिक्त युवा रचनाकारों (18 से 30 वर्ष) को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से कहानी, कविता एवं निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन करता है। इस हेतु युवा रचनाकारों से प्रविष्टियाँ आमंत्रित की जा रही है। प्रविष्टियाँ सीधे निदेशक, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, राजर्षि पुरुषोत्तम दास टण्डन हिन्दी भवन, 6 महात्मा गांधी मार्ग, हजरतगंज, लखनऊ-226001 को दिनांक 09 अक्टूबर, 2020 तक भेज सकते है।

जिलाधिकारी ने कहा कि युवा रचनाकारों को कहानी/ कविता/ निबन्ध तीन प्रतियों में कम्प्यूटर टाइप ए4 आकार में भेजनी होगी। कहानी अधिकतम 2500 शब्द व कविता 500 शब्द एक ओर टंकित हो। निबन्ध कोरोना संकट और हमारा दायित्व विषय पर केन्द्रित होगा, जो अधिकतम 2500 शब्द का होगा। कहानी/ कविता भारतीय सामाजिक, सांस्कृतिक मूल्यांें पर केन्द्रित होनी चाहिए। कहानी/कविता/निबन्ध पर शीर्षक के अतिरिक्त लेखक का नाम व पता अंकित नहीं होना चाहिए। अलग पृष्ठ पर कहानी/कविता/निबन्ध के शीर्षक के साथ प्रतिभागी का नाम, पता दूरभाष संख्या सहित हाईस्कूल प्रमाण पत्र की छायाप्रति संलग्न करना अनिवार्य होगा।

इस संबन्ध में अधिक जानकारी के लिए प्रभारी प्रोत्साहन डाॅ0 अमिता दुबे के दूरभाष संख्या-9455004793 पर संपर्क कर सकते है। प्रविष्ट भेजने की अन्तिम तिथि 09 अक्टूबर, 2020 है। प्रविष्टि के लिफाफे पर कहानी/कविता/निबन्ध प्रतियोगिता लिखना अनिवार्य है। इस प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार विजेता को रु0 7,000.00 द्वितीय पुरस्कार विजेता को रु0 5,000.00, तृतीय पुरस्कार विजेता को रु0 4,000.00 तथा सांत्वना पुरस्कार के लिए रु0 2,000.00 दिया जायेगा।