You are currently viewing प्रेमियो! किसी भी धर्म-मजहब देवी-देवता पीर-पैगम्बर की निंदा बुराई मत करो -बाबा उमाकान्त जी महाराज

जयगुरुदेव
25.03.2021, गुना, मध्य प्रदेश

प्रेमियो! किसी भी धर्म-मजहब देवी-देवता पीर-पैगम्बर की निंदा बुराई मत करो -बाबा उमाकान्त जी महाराज

इसी मानव मंदिर में देवी-देवताओं के दर्शन और भगवान के प्राप्ति का सीधा और सरल मार्ग बताने वाले वक़्त के पूरे सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 25 मार्च 2021 को गुना, म. प्र. में सत्संग में बताया कि यह 2021 का साल 2020 से खराब जाएगा। चाहे सूखा हो, चाहे अकाल हो, चाहे भूकंप हो, चाहे लड़ाई-झगड़ा हो, चाहे खून कत्ल हो – 2020 से ज्यादा खराब जायेगा 2021 का साल। प्रेमियों! खराब समय को बड़े होशियारी से पार करना है।

जान-अंजान में जो कर्म बनते हैं, सुमिरन, ध्यान, भजन से कटते हैं

महाराज जी कहा कि जो आपको बताया उसका पालन करना है। ध्यान, भजन करते रहना है।अनजान में जो कर्म बन गए वो कट जाए नहीं तो गंदगी हो जाएगी तो तकलीफ उठाना पड़ेगा।
नियम-कानून का पालन करना है, बड़ी सावधानी से खराब समय को पार करना है।

आने वाले खराब समय से बचत के लिए मैंने गुलाबी कपड़ा पहनाया

महाराज जी ने कहा कि ठगों से होशियार रहना।ठगी बहुत बढ़ेगी। गुरु महाराज ने बोरा टाट पहनाया था। उस समय मैंने भी पहना था। एक करोड़ लोगों ने बोरा पहना था। गुरु महाराज ने गुलाबी पगड़ी पहनवाया। मैंने आने वाले खराब समय से बचत के लिए पहनाया गुलाबी कपड़ा। अब गुलाबी कपड़ा पहन कर के आ जाएं, टाट पहन कर के आ जाएं, आपको धोखा दे दें, कह दें कि नौकरी लगवा देंगे, प्रमोशन करा देंगे, मकान खरीद लो, गाड़ी खरीद लो, पैसा ले जाएगा, वापिस आने की कोई गारंटी नहीं रहेगी। इसी तरह से दिल को जीत करके पैसा लेकर चले जाते हैं – मां बीमार, पत्नी बीमार, दे दो लेकिन एक पैसा वापस नहीं आता। संगतो में भी बहुत से ऐसे लोग बन करके आ गए, धोखा दे देते हैं और लोग धोखा खा जाते हैं।

देश की संपत्ति को आप अपना समझना और अधिकारियों-कर्मचारियों का सम्मान करना

प्रेमियों! होशियारी से रहना है। सेवा करते रहना है। हो सके तो किसी की मदद कर दो। कोई भूखा आ जाए तो उसको पानी पिला दो। आपकी वजह से एक भी बूंद खून किसी भी जीव का धरती पर ना गिरे। इस बात का ध्यान रहे प्रेमियों! किसी की भी निंदा-बुराई मत करो। किसी भी धर्म की, किसी भी मजहब की, किसी भी देवी-देवता पीर-पैगंबर की निंदा बुराई आप मत करो। देश के नियम का पालन करो। देश की संपत्ति को अपना समझो। अधिकारियों कर्मचारियों का सम्मान करो। अधिकारियों कर्मचारियों के अच्छे काम में आप उनकी मदद करो। आप अच्छे बन जाओगे, नेक बन जाओगे, अच्छे काम करोगे, भजन करोगे तो आपका लोक और परलोक दोनों बनता हुआ दिखाई देगा।