बुलंदशहर ब्लॉक में शिक्षक को कोरोना पॉजिटिव होने से अन्य शिक्षक  / शिक्षिकाएं को है संक्रमण फैलने का खतरा

उ० प्र० प्राथमिक शिक्षक संघ ने कोरोना संक्रमित शिक्षक के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को क्वॉरेंटीन भेजने,के लिए बीएसए से की मांग

विनय चौहान

बुलंदशहर। कोविड-19 महामारी में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है जिसमें रोज कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ती जा रही है ऐसे में सभी को बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता है। शिक्षक को कोरोना पॉजिटिव होने पर अन्य लोगों को भी क्वारंटाइन में भेजना चाहिए।
बुलंदशहर ब्लॉक के अनुपम सक्सैना, एआरपी, विकास क्षेत्र – बीबीनगर, शिक्षक की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। शिक्षक को हॉस्पिटल में इलाज के लिए भेजा गया है। लेकिन उनके संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को अभी तक क्वेंटीन नहीं किया गया है जिससे कोरोनावायरस संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। जैसे कि शिक्षक अनुपम सक्सैना अधिकांश समय खंड शिक्षा अधिकारी, सदर, बुलंदशहर , (अतिरिक्त प्रभार सिकंदराबाद) के संपर्क में रहते थे। खंड शिक्षा अधिकारी नरेंद्र कुमार सिंह द्वारा बुलंदशहर सदर सिकंदराबाद के विद्यालयों का निरीक्षण किया जा रहा है तथा बीआरसी कार्यालय पर भी जा रहे हैं।
ऐसे में उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि खंड शिक्षा अधिकारी का स्वास्थ्य परीक्षण कराकर होम क्वॉरेंटाइन या क्वारंटाइन केंद्र भेजा है तथा उनके द्वारा विद्यालयों में किए जा रहे हैं निरीक्षण पर रोक लगायी जाए। तथा सिकंदराबाद विकासखंड क्षेत्र का प्रभार किसी अन्य विकास खंड अधिकारी को दिया जाए।
जिला उपाध्यक्ष कौशल किशोर ने बताया कि हमारे संघ द्वारा की गई दोनों मांगों पर बेसिक शिक्षा अधिकारी अति शीघ्र संज्ञान लेकर उनके द्वारा कार्रवाई की जानी चाहिए क्योंकि यह महामारी का विषय है जिससे शिक्षक के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को कोरोनावायरस से बचाया जा सके। अगर कोरोना संक्रमित पाए गए शिक्षक अनुपम सक्सैना के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को क्वारंटाइन नहीं किया जाता है तो अनेक लोगों को कोरोनावायरस फैलने का खतरा बढ़ जाएगा। और खंड शिक्षा अधिकारी नरेंद्र कुमार सिंह द्वारा विद्यालयों के निरीक्षण का कार्य रोक नहीं रोका जाता है तब कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में बढ़ोतरी होने का खतरा बना हुआ है। तथा अन्य खंड शिक्षा अधिकारी को सिकंदराबाद ब्लॉक का प्रभारी बनाया जाना सभी शिक्षकों के हित में हैं और अति आवश्यक भी है।
बेसिक शिक्षा अधिकारी से अपनी मांगों को रखने में बाबू सिंह जिला मंत्री, देवेंद्र कुमार शर्मा कोषाध्यक्ष आदि उपस्थित रहे।