अविश्‍वास प्रस्‍ताव को लेकर मुख्‍य पार्षद ने विशेष बैठक की तिथि नहीं की निर्धारित, विपक्ष ने बैठक कर 20 जुलाई को विशेष बैठक बुलाने को कार्यपालक पदाधिकारी को सौंपा पत्र

मसौढी

नगर परिषद की सता को लेकर बदलते घटनाक्रम में मंगलवार को उस वक्त एक नया मोड आ गया जब विपक्ष ने एक बैठक कर अविश्‍वास प्रस्‍ताव को लेकर परिषद की विशेष बैठक के लिए खुद तिथि निर्धारित कर दी और इससे संबंधित पत्र कार्यपालक पदाधिकारी को सौंप दिया। गौरतलब है कि नगर परिषद के 11 वार्ड पार्षदों ने मुख्‍य पार्षद सुनीता सिन्‍हा पर सदन का विश्‍वास खो देने का आरोप लगा पिछले 6 जुलाई को अविश्‍वास प्रस्‍ताव संबंधी एक नोटिस उन्‍हें सौंपा था और उनके द्वारा लगाए गए आरोपों पर चर्चा व मतदान के लिए उनसे परिषद की एक विशेष बैठक बुलाने का आग्रह किया था। इस बाबत विपक्ष की पार्षद रानी कुमारी ने बताया कि नोटिस के एक सप्‍ताह के भीतर विशेष बैठक की सूचना व तिथि निर्धारित कर देने का प्रावधान है। लेकिन एक सप्‍ताह बीत जाने के बाद भी जब मुख्‍य पार्षद ने विशेष बैठक की तिथि निर्धारित नहीं की तो उन्‍होंने अपने सभी सहयोगी पार्षदों (11) के साथ मंगलवार को एक बैठक कर विशेष बैठक की तिथि 20 जुलाई तय कर दी और इसकी लिखित सूचना भी कार्यापालक पदाधिकारी को दे दी ताकि वे बैठक के लिए अन्‍य औपचारिकताओं को पूरा कर सकें। इधर कार्यपालक पदाधिकारी किशोर कुणाल ने बताया कि विपक्ष द्वारा विशेष बैठक की तिथि (20 जुलाई) संबंधी लिखित सूचना दे दी गई है और वे इस संबंध में जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी को लिखित सूचना भेज रहें हैं ताकि विधिसम्‍मत आगे की कारवाई सुनिश्चित की जा सके।

विशेष बैठक की तिथि का विपक्ष करता रहा इंतजार और नगर परिषद कोरम के अभाव में टालता रहा सामान्य बैठक

बीते 6 जुलाई को नगर परिषद की आहूत सामान्‍य बैठक शुरू बीते6 जुलाई को नगर परिषद किया भूत समान बैठक शुरू होने के पूर्व ही विपक्ष ने मुख्य पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का आरोप लगा उन्हें इससे संबंधित नोटिस दिया था और अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा व मतदान के लिए विशेष बैठक हेतु तिथि निर्धारित करने का आग्रह किया था। लेकिन कोरम के अभाव में 9 जुलाई को बैठक स्थगित कर 11 जुलाई को बैठक बुलाई गई। जब इस पर विवाद हुआ तो विभाग से मार्गदर्शन मांगने की बात कही गई।लेकिन सबसे हैरत की बात तो यह रही कि इस दौरान मुख्य पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर बैठक बुलाने पर चुप्पी साध ली गई। नत्रजन मंगलवार को विपक्षी गुट ने खुद बैठक कर विशेष बैठक की तिथि निर्धारित कर दी।
कार्यपालक पदाधिकारी ने विशेष बैठक को लेकर पार्षदों को भेजा आमंत्रण पत्र
इस बीच विपक्ष द्वारा 20 जुलाई को विशेष बैठक बुलाने को लेकर सौपे गए पत्र के आलोक में कार्यपालक पदाधिकारी किशोर कुणाल ने बिना देर किए मंगलवार को ही मुख्य पार्षद समेत पांच पार्षदों को बैठक में शामिल होने के लिए आमंत्रण पत्र भी निर्गत कर दिया।
जरी के प्रखंड अध्यक्ष की पत्नी रानी कुमारी का मुख्य पार्षद बनना तय
सूत्रों की माने तो वार्ड संख्या 23 के पार्षद सह जदयू के प्रखंड अध्यक्ष प्रमोद कुमार की पत्नी रानी कुमारी का मुख्य पार्षद बनना लगभग तय माना जा रहा है।बताया जाता है कि मुख्य पार्षद की दावेदार मानी मानी जा रही रानी कुमारी के पक्ष में ओप्पो पार्षद समेत दो तिहाई से अधिक वार्ड पार्षद गोलबंद हो चुके हैं और वे सभी फिलहाल भूमिगत है।ऐसे में यह माना जा रहा है कि जदयू प्रखंड अध्यक्ष की पत्नी रानी कुमारी का मुख्य पार्षद बनाने का रास्ता लगभग साफ हो चुका है।