पुलिस भ्रष्टाचार के खिलाफ अनशन कर रहे तीनों अनशन कारियों की हालत बिगड़ी

नहीं ली शासन प्रशासन ने सुध,तीनो जिला अस्पताल में हुए भर्ती

महोबा उत्तर प्रदेश,,

मानव सेवा संस्था के बैनर तले न्याय की गुहार लगाने वाले तीनों अनशनकारी 25 अगस्त से पुलिस भ्रष्टाचार की भ्रष्ट कार्यशैली को लेकर अनशन पर बैठे हुए हैं। पत्रकारों से बातचीत करते हुए तीनों अनशन कारियों ने अपनी अपनी अलग-अलग समस्या बताईं गयी। अनशन का भगवती प्रसाद सोनी निवास काशीराम कॉलोनी राठ रोड महोबा द्वारा बताया गया की मेरे पुत्र की हत्या हुई थी उस हत्या को पुलिस प्रशासन दुर्घटना में तब्दील करना चाहती है। इसी विषय पर में सीबीसीआईडी की जांच मांग कर रहा हूं। उन्होंने बताया न्याय की बात तो दूर रही प्रशासन द्वारा मुझे अनशन तोड़ने पर दबाव बनाया जा रहा है।दूसरे अनशन कारी अयोध्या प्रसाद सोनी ग्राम स्योड़ी का आरोप है कि मेरे घर पर चोरी हुई थी सबूत सहित नाम दर्ज अपराधी का नाम बताने के बावजूद पुलिस उसे थाने पकड़ कर लिया हुआ उसे बिना दंड दिए हुए छोड़ दिया। तीसरे अनशन कारी गुमान सिंह ग्राम नटर्रा का आरोप है कि मेरा ट्रैक्टर व उसका सारा सामान भाजपा नेता राजू सिंह खरेला द्वारा हड़पा गया है ।कई साल से पुलिस से मांग कर रहा हूं अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। जानकारी के मुताबिक अनशन कारियों की हालत बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल महोबा में भर्ती कराया गया है जहां उन्होंने मेडिसन लेने से इनकार कर दिया है। अनशन कारी भगवती प्रसाद सोनी का कहना है कि यदि न्याय ना मिला तो मैं आत्मदाह करके अपनी जीवन लीला समाप्त कर लूंगा।