You are currently viewing रास्ते की ना सुनी गुहार, तो टावर पर चढ़ा युवक 2 घंटे तक चले हाईवोल्टेज ड्रामे से प्रशासन के फूले हाथ पाव

रास्ते की ना सुनी गुहार, तो टावर पर चढ़ा युवक 2 घंटे तक चले हाईवोल्टेज ड्रामे से प्रशासन के फूले हाथ पाव

  • संवाददाता राधेश्याम गुप्ता*

रेहराबजार/बलरामपुर = जनपद के रेहरा बाजार क्षेत्र के सोनापार में सोमवार को अचानक एक युवक रस्सी व कुल्हाड़ी लेकर मोबाइल टॉवर पर चढ़ गया। सूचना ने इलाके में हड़कंप मच गया। मौके पर एसडीएम पहुंचे। युवक ने दर्द बयां किया। बताया कि करीब डेढ़ साल से घर तक रास्ते की गुहार लगा रहा हूं, अब तक कोइ हल न निकला है। वहीं, एसडीएम के आश्वासन पर युवक नीचे उतरा और घर ले जाकर स्थिति से रूबरू कराया। एसडीएम ने बताया कि घर तक रास्ता बनाने के लिए नियमत: कार्रवाई की जाएगी।

ये है पूरा मामला

मामला सोनापार गांव का है। यहां का निवासी सोनीलाल यादव के मुताबिक उसका घर प्राथमिक विद्यालय के पीछे है। करीब डेढ़ साल पहले प्रधान ने स्कूल की चहारदीवारी का निर्माण कराया। उसके घर तक जाने वाले रास्ते पर भी दीवार खड़ी कर दी। इससे उसका आवागमन बंद हो गया। रास्ता खुलवाने के लिए युवक डेढ़ साल से संपूर्ण समाधान दिवस, थाना समाधान दिवस, मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर लगातार शिकायत कर रहा है। तहसीलदार व अन्य अधिकारियों के कार्यालय व आवास का चक्कर काटकर थक चुका है। उसके पास शिकायती पत्रों का पुलिंदा है। कहीं भी सुनवाई न होने से क्षुब्ध सोनीलाल सोमवार सुबह करीब आठ बजे त्रिमुहानी गांव में लगे मोबाइल टॉवर पर चढ़ गया। 50 फीट से अधिक ऊंचाई वाले टॉवर पर सोनीलाल को चढ़ा देख ग्रामीण एकत्र हो गए। ग्रामीणों ने थाना रेहराबाजार पुलिस को सूचना दी। उपजिलाधिकारी उतरौला, क्षेत्राधिकारी व थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। हर कोई उससे नीचे उतरने की मनुहार करता रहा, लेकिन वह अपनी मांग पर अड़ा था। करीब दो घंटे तक प्रशासन के हाथ-पांव फूले रहे। एसडीएम के आश्वासन के बाद उसका हाई वोल्टेज ड्रामा खत्म हुआ॥