गरीबों के पेट का सहारा बने हुए है । नंदकिशोर कश्यप का भोजन

पीलीभीत से अंकित रावत की रिपोर्ट

पीलीभीत के रहने वाले नंद किशोर कश्यप जी एक छोटा सा ठेला लगा कर एक सेवा कर रहे है ।आपको बताते चले कि करोना महामारी ने सभी का काम बंद हो गया है । ई रिक्सा वाले हुए या फिर काम करने वाले मजदूर जों दो टाइम की रोटी के लाले पड़ गए है । नंद किशोर जी ने एक छोटा सा ठेला लगा कर कम रुपए में गरीबों का पेट भर रहे है । जो खाना होटलों में लोग खाने के बाद अच्छी कीमत देते है वहीं एक छोटे से ठेले पर आकर हर मजदूर , ई रिक्शा वाले हो या अस्पतालों में रुके हुए परिवार का सहारा बन कर उनका गुजरा कर रहे है । नंद किशोर जी एक समाज सेवक भी है जो वो बहुत ही मन से ये कार्य कर रहे है । अगर उनकी दुकान पर कोई बेसहारा आ जाता है उसे वो अपनी तरफ से भोजन करा देता है। हर रोज एक नए स्वाद का भोजन बनाते है । जो भी उनके ठेले पर भोजन के लिए जाता है उसके साथ एक सेल्फी लेकर वो फेसबुक पर अपलोड करते हैं। और अपना संदेश देते है इसे देख कर और लोग भी उनकी मदद करते है । इस महामारी में कोई भी भूखा ना रहे हर परिवार मैं दो वक्त की रोटी का सहारा बने नंद किशोर भैया की ठेले पर जाकर भोजन कर लेता है । पीलीभीत में उनके इस सेवा से सभी बहुत खुश है।