जंगली हाथियों के आतंक से थर्राया तराई। सुजौली पुलिस टीम को दौड़ाया‌ हाथियों ने घेरा ।

रिपोर्ट पारसनाथ UFT NEWS 24 BAHRAICH

खाद तस्करी रोकथाम हेतु नेपाल सीमा पर गश्त कर रही थी सुजौली पुलिस टीम।

हाथियों को देख बचाव हेतु भागी पुलिस की गाड़ी कीचड़ में फसी। हाथियों ने घेरा।

मिहींपुरवा/बहराइच- कर्तनिया वन्य जीव प्रभाग के कर्तनिया रेंज में इन दिनो जंगली हाथियों का उत्पात जारी है। नेपाल के जंगलो से आये ये टस्कर हाथियों का झुंड आयदिन आबादी इलाको में घुस ग्रामीणो के घरो व फसलो को नुकसान पहुंचाते रहते है पिछले दिन इन हाथियों ने सैकड़ो बीघा धान की फसल को रौंद डाला था। जंगल में गश्त के दौरान वनकर्मियों व जंगली हाथियों का आमना सामना होना कोई नई बात नही है किंतु बुधवार को सुजौली पुलिस टीम इन जंगली हाथियो के निशाने पर आ गयी।
एसएचओ सुजौली चौथीराम यादव सुजौली पुलिस टीम के साथ भारत नेपाल सीमा पर खाद तस्करी की रोकथाम हेतु गश्त पर निकले थे कर्तनिया रेंज के बिछिया आम्बा गांव के समीप नेपाल सीमा पर गश्त के दौरान जंगली हाथियों का झुंड पुलिस की गाड़ी के सामने आकर खड़ा हो गया। गाड़ी के सामने दर्जनों हाथियों को एक साथ देख पुलिस कर्मियों के होश उड़ गए। किसी तरह पुलिसकर्मी जान बचाकर वहां से भाग गए लेकिन मात्र 50 मीटर ही जाने के बाद सुजौली पुलिस की गाड़ी कीचड़ में फस गयी। इस दौरान हाथियों ने सुजौली पुलिस की गाड़ी को चारों ओर से घेर लिया। हाथियों के चिधाड़ने की आवाज़ सुन कर पुलिस कर्मी भयभीत हो गये । कुछ देर बाद पुलिसकर्मी हिम्मत दिखाते हुये गाड़ी से उतरे तथा आनन फानन में धक्का लगा कर कीचड़ में फसी गाड़ी को बाहर निकला तब जाकर पुलिसकर्मी किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से वापस आ सके।
इंसपेक्टर सुजौली चौथी राम यादव ने कहा कि सीमा पर खाद तस्करी की सूचना मिली थी जिसके बाद से पुलिस ने सीमा क्षेत्रो पर सक्रियता बढ़ा दी है जिससे बार्डर पर खाद तस्करी रुक गयी है इस्पेक्टर ने कहा यदि कोई व्यक्ति नेपाल खाद ले जाता हुआ पाया गया तो कठोर कार्यवाही की जायेगी।
गश्त के दौरान सुजौली इंस्पेक्टर चौथी राम यादव, सब इस्पेक्टर कौसर अली, अजय कांत द्विवेदी, सुभाष यादव, कांस्टेबल विकास मिश्रा, रोशनी पासवान, अशतोष विकास सिंह, अमरजीत, सारांश, अचिता नंद आदि मौजूद रहे।