विकासखंड सिराथू ब्लाक के ग्राम सभा  कैमा के ग्राम प्रधान भीमसेन कर रहे हैं ,सरकारी धनराशि व विकास के कार्यों को कागजों में पूरा, विकास कार्यों के साथ किया जा रहा है खिलवाड।

कौशाम्बी – विकासखंड सिराथू ब्लाक के ग्राम सभा कैमा के मौजूदा ग्राम प्रधान भीमसेन गांव के विकास के कार्यों व सरकारी धनराशि का गलत उपयोग किया जा रह है, इनके कार्यकाल में विकास कार्य सिर्फ कागजों में दिखाई दे रहा है, ग्रामीणों के बीच में नहीं दिखाई दे रहा है, ग्राम लोधन का पुरवा मजरा कैमा में न तो किसी खडन्जा (सड़क) की मरम्मत कराई गई न किसी नाली का निर्माण और न किसी गरीब लाभार्थी को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कोई लाभ नही मिला और स्वच्छ भारत मिशन के तहत कुछ लोगों को शौचालय नहीं निर्माण कराया गया । इस गांव में कोई सोलर लाइट नहीं लगी , गांव की स्थिति बहुत खराब है जिससे नाराज ग्रामीणों का कहना कि हमने कई बार शिकायत लेकर ग्राम प्रधान जी के पास गये और अपने गांव के विकास के बारे में कहे तो वे कहते हैं, कि हो जाएगा कार्य , लेकिन वर्ष 2015से 2020हो चुका है लेकिन ग्राम प्रधान जी का कहना है कि कार्य हो जाएगा लेकिन पांच साल बीत गए हैं हमारे गांव में विकास के लिए कुछ भी व्यवस्था नहीं की जा रही है । जिससे ग्रामीणों में काफी नाराजगी हो रही है। और न इस गांव में पानी निकालने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। गांव के व्यक्ति किसी तरह अपना परिवार पालने के लिए किसी भी तरह से व्यवस्था नहीं कर पा रहे है, लेकिन सरकार को इस गांव की कोई परवाह नहीं है। सिर्फ सरकार व अधिकारी गण कागजों के विकास को देख रहे हैं, ग्रामीणों के विकास को नहीं देखा जा रहे है। कुछ ऐसे गरीब व्यक्तिक पड़े हैं जो अपने जीवन को चलाने के लिए दूसरे का सहारा ले रहे हैं और न ही उनके रहने के लिए कोई आशियाना है। इस गांव की ये तस्वीरें बयां कर रही हैं कि यहां पर कई वर्ष बीत चुके हैं कोई विकास नहीं हुआ और न ही हो रहा है। यह है हमारे देश के विकास कार्यों की निशानी जो गांव लावारिस पड़े हुए हैं, सरकार ऐसे गांव के विकास के लिए धनराशि देती है लेकिन विकास कार्यों के लिए नहीं सिर्फ कागजों में विकास कार्यों को पूरा करने के लिए देती है। भ्रष्टाचार के चलते हुए ग्रामीणों का भरोसा सरकार के ऊपर से उठ रहा है।
इन लोगों के कार्यों की दास्तान ए तस्वीरें बता रही हैं । अधिकारियों को विकास के कार्यों की कोई परवाह नहीं है।