वन विभाग टीम  को गुमराह कर रहा बाघ ,बारिश में नहीं मिले बाघ के पदचिह्न तलाश जारी

पीलीभीत से अंकित रावत की रिपोर्ट

पीलीभीत के न्यूरिया क्षेत्र के गांव टहा में सोमवार को एक बाघ के आ जाने से हड़कंप मच गया था। बाघ ने एक आवारा सांड को अपना शिकार बनाया था। जिससे गांव में दहशत का माहौल बन गया था। ग्रामीणों ने हाथ में हथियार लेकर घेराबंदी की तो वन विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया था । जिसकी सूचना मिलते ही वन विभाग के डीएफओ मौके पर पहुंचे और उन्होंने खाबर लगा कर घेरा बंदी की थी। सोमवार को पूरे दिन घेरा बंदी करने के बाद बाघ की लोकेशन वन विभाग ट्रेस नहीं कर सका था। खेत के चारो तरफ खाबर लगाई गई थी।रात में टीम को भी लगाया गया ।

मंगलवार की सुबह जब अधिकारियों ने बाघ की लोकेशन जानने का प्रयास किया जो वारिश के कारण उसके पदचिह्न ट्रेस नहीं हो सके। बताया गया है कि आज फिर से वन विभाग की टीम प्रयास करेगी। मौके पर पहुंची टीम को निर्देश दिए हैं। मंगलवार शाम तक बाघ की सूचना खेत में छुपे होने की आशंका बताई गई थी । जिससे टीम को लगाया गया था।मंगलवार की सुबह आलाधिकारी फिर पहुंचे तो ट्रेस करने का प्रयास किया। डीएफओ संजीव कुमार ने बताया वह मौके पर गए थे। बारिश होने के कारण बाग के पदचिन्ह ट्रेस नहीं हो सके।टीम को निर्देश दिए गए हैं।टीम को मौके पर लगाया गया है ।आज फिर से प्रयास किया जाएगा ।और उन्होंने बताया है कि संभावना है कि बाघ जंगल की और निकल गया है।