आगे का समय भारत और विश्व के लिए अच्छा नहीं

जयगुरुदेव

आगे का समय भारत और विश्व के लिए अच्छा नहीं

Anchor- विश्व शांति और सहिष्णुता का सन्देश देने वाले उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने सन्देश देते हुए बताया कि आगे आने वाला समय केवल भारत ही नहीं विश्व के समस्त देशों के लोगों के लिए अच्छा नहीं है। लोग बारूद के ढेर पर खड़े है।
देखो प्रेमियों समय की चेतावनी बराबर गुरु महाराज जी भी देते रहें हमको भी देना पड़ रहा है आगे का समय जो है वह अच्छा नहीं है भारत देश के लिये ही नही पूरे विश्व के लोगों के लिये भी अच्छा नही है।

बहुत से देशों में लोग बहुत ज्यादा परेशान
महाराज जी ने कहा कि देखो बहुत से देश और देश को चलाने वाले देश में रहने वाले लोग बहुत ज्यादा परेशान है इनको इस बात का आभास हो गया है हमारी जिंदगी इस समय पर तलवार पर चलने की तरह से है। बारूद के ढेर पर हम खड़े हैं। कभी भी हम खत्म हो सकते हैं,जैसे इस समय पर कुछ देशों की सीमाओं पर जो फौज लगी हुई है उसको कुछ भरोसा नही है कि हम वापस अपने बच्चों के बीच में जा पाएंगे?
परिवार वालों के पास पहुंच पाएंगे, हम इस जगह को छोड़कर मैदान में जा पाएंगे।
ठाट,बाट और हाट बाज़ार हम देख पाएंगे आप यह समझो ऐसा ही हाल कुछ देशों में लोगों का हो रहा है

विश्व युद्ध के संकेत
महाराज जी ने ये भी बताया कि इस वक्त पर जो माहौल तैयार हो रहा है,वो युद्ध का माहोल तैयार हो रहा है,और ये जो सक्षम देश हैं जो सबल देश कहलाते है इनमें अगर लड़ाइयां शुरू हुई।
तो विश्व युद्ध होने में कोई भी देर नहीं लगेगी यह लड़ाई छोटी लड़ाई बड़ी लड़ाई बन जाएगी विश्व युद्ध बन जाएगा विश्व युद्ध में कौन बचेगा?कौन रहेगा? जब छोटे युद्ध में नहीं बचते हैं,तो विश्व युद्ध में कैसे बचेंगे जब घर के लड़ाई में नहीं बचते हैं भाई-भाई को मार देता है बाप-बेटे को मार देता है पति-पत्नी को मार देता है पत्नी पति को मार देती है जब चारों तरफ लड़ाई का माहौल हो जाएगा तो यह धन दौलत पुत्र परिवार यह मान और प्रतिष्ठा आप जो पढ़े-लिखे लोग हो बुद्धिजीवी लोग हो यह सोचो आप के किसी के काम आएगा इस समय पर जरूरत है कि आप जगो और लोगों को जगाओ और बातों को समझो लोगों को समझाओ अपनी भी जान बचाओ दूसरों की भी जान बचाओ प्रेमियों इस वक्त पर विचार करने का सोचने का अवसर मिला है यह समय जब निकल जाएगा समय चूक पुनि फिर क्या पछतावे का बरसा जब कृषि सुखाने जैसे खेत सूख गया फिर बरसात हुई उससे कोई फायदा नही है ऐसे ही जब समय निकल जाएगा फिर पछताने से क्या होगा समय पर चेतो समझो और जानो और बातों को पकड़ो रास्ते की पकड़ो रास्ते पर चलो।

जयगुरुदेव