सादगी के साथ मनाया गया तुलसी जन्मोत्सव

व्यूरो चीफ बालकृष्ण विश्वकर्मा

लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री हुए उपस्थित

चित्रकूट / राजापुर- महाकवि तुलसी की जीवंतता को बरकरार रखते हुए व उनकी यादों को संजोए वृंदावन के एक संत ने तुलसी महोत्सव का बीड़ा उठाया है। ये अपनी वाणी व कार्यप्रणालियों से लोगों को भाव विभोर कर रहे हैं। वृन्दावन के संत व नगर वासियों ने भव्यता के साथ तुलसी की जयंती मनाई ।वृन्दावन के संत रामदास जी महराज के बारे में चर्चा है कि ये विगत वर्षों से अपने हौसले के बल पर तुलसी की नगरी राजापुर में तुलसी जन्म कुटीर के प्रांगण में नवदिवसीय रामचरित मानस का नवान्हपारायण पाठ कराते हुए तुलसी जयन्ती एक महोत्सव के रूप में मनाकर फिर अपने आश्रम वृंदावन में वापस चले जाते हैं इनके इस अनूठे कार्य की पूरे राजापुर के साथ साथ अन्य क्षेत्रीय ग्रामीण इलाकों तक में चर्चा हो रही है।
इस वर्ष कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण तुलसी जन्म कुटीर परिसर में मानस पाठ कर रहे सभी आस्थावान सोशल डिस्टेंसिग के अनुरूप मास्क लगाकर नवदिवसीय मानस पाठ सम्पन्न कर रहे हैं ओम नमः शिवाय गोशाला वंशीवट श्री धाम वृंदावन मथुरा के सन्त स्वामी रामदास जी महाराज के द्वारा तुलसी जन्म कुटीर के प्रांगण में विगत कई वर्षों से तुलसी जन्मोत्सव मनाया जा रहा है।


वहीं दूसरी ओर तुलसी स्मारक प्रांगण में रामचरित मानस पाठ कराकर कार्यक्रम समाप्त करा दिया गया है।
आपको बता दें कि तुलसी स्मारक समिति का गठन सन 1955 में तत्कालीन उप्र सरकार द्वारा किया गया था जिसके द्वारा तुलसी स्मारक परिसर में गोस्वामी तुलसी जी की जयंती विगत कई दशकों से मनाई जाती रही है
लेकिन विगत वर्षों से इस समिति के पदाधिकारियों के कालकवलित होने पर नवीन पदाधिकारियों का पद सृजन हुआ और समिति का भी नव गठन किया गया जिसमें प्रशासनिक अधिकारियों को भी उत्तरदायित्व सौंपा गया इस दौर में ऐतिहासिक जयंती महोत्सव मनाया जाता रहा है लेकिन समय की विडम्बना देखिए कि अपनी ही जन्मभूमि में महाकवि तुलसी दिन प्रतिदिन उपेक्षित होते गए अब तो विगत कुछ वर्षों से तुलसी की जयंती महोत्सव मनाने के नाम पर महाकवि तुलसी व तुलसी के अनुयायियों के साथ भी छलावा किया जाने लगा।
कार्यक्रम देखकर ऐसा तो लगता ही नहीं है कि विश्व प्रसिद्ध महाकवि तुलसी की जन्मभूमि राजापुर में उन्हीं गोस्वामी तुलसी की जयंती महोत्सव के रूप में मनाई जा रही है
हकीकत तो यह है कि अब यहां तुलसी जयंती महोत्सव के नाम पर सिर्फ रामचरित मानस का अखण्ड पाठ बस होता है और पाठ समाप्ति के उपरांत गोस्वामी तुलसीदास जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम को समाप्त कर दिया जाता है। आज तुलसी स्मारक समिति(प्रशासनिक)के द्वारा तुलसी स्मारक परिसर में उप जिलाधिकारी राजापुर राहुल कश्यप विश्वकर्मा ने तुलसी व रामचरित मानस का विधिवत पूजन कर अखण्ड मानस पाठ का समापन कराया । इस दौरान चित्रकूट सदर विधायक राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय की मौजूदगी उल्लेखनीय रही, तुलसी स्मारक समिति के उपाध्यक्ष डॉ सन्तोष कुमार मिश्र, प्रमेश श्रीवास्तव तहसीलदार, राजापुर नायब तहसीलदार, अनिल सिंह थानाध्यक्ष राजापुर, श्यामसुन्दर मिश्र, सुभाष चंद्र अग्रवाल, मनोज द्विवेदी, नगर अध्यक्ष प्रतिनिधि राजापुर राधेश्याम सोनी समाजसेवी राजापुर, भरत जायसवाल पत्रकार, सत्यब्रत मिश्रा आदि मौजूद रहे।