किषनगढ (अजमेर) से मालपुरा (टोंक) तक बने दो लेन का राष्ट्रीय राजमार्ग:- सांसद भागीरथ चौधरी

सादरी पाली*किषनगढ (अजमेर) से मालपुरा (टोंक) तक बने दो लेन का राष्ट्रीय राजमार्ग:- सांसद भागीरथ चौधरी।**बजट सत्र में नियम 377 के अन्तर्गत अविलम्बनीय लोक महत्व मुददे के तहत रखी संसद में मांग।**ई.पी.सी. पद्धति एवं राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना के तहत बनाने हेतु सदन में उठाया मुद्दा।*अजमेर सांसद श्री भागीरथ चौधरी ने बजट सत्र 2021-22 के दौरान आज नियम 377 के अन्तर्गत अविलम्बनीय लोक महत्व के मुददे के तहत संसद में अजमेर संसदीय क्षेत्र के अन्तर्गत किषनगढ(अजमेर) से मालपुरा (टोंक) तक 70 किलोमीटर मार्ग को ई.पी.सी. पद्धति एवं राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना के तहत दो लेन पक्की पटरी सहित चौड़ाईकरण कर राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में विकसित कराने की मांग रखी। सांसद श्री चौधरी ने सदन को लिखित में अवगत कराया कि मेरे अजमेर संसदीय क्षेत्र में स्थित किषनगढ मार्बल की विष्वविख्यात मण्डी है यंहा पर पावरलूम, टैक्सटाईल्स एंव हेण्डीक्राफ्ट की भी पर्याप्त ईकाईयों का दबदबा है एंव इन उधोगों के कारण सीधे ही दक्षिणी राजस्थान के मालपुरा, टोंक, कोटा, बून्दी, झालावाड एवं सीमान्त मध्यप्रदेष के उज्जैन, इन्दौर आदि बडे शहरों मे व्यापारिक संबध स्थापित है, लेकिन किषनगढ (अजमेर) से मालपुरा (टोंक) स्टेट हाईवे 7 ई का मार्ग वर्तमान में अरांई तक 5.50 मीटर चौडा है एंव इससे आगे स्टेट हाईवे 101 अरांई से किशनपुरा जिला सीमा अजमेर तक लगभग 3 मीटर एवं किशनपुरा से मालपुरा (टोंक) तक 5.5 मीटर चौडा मार्ग नया बना हुआ है। इस मार्ग पर अरांई से किशनपुरा के 22 किमी के हिस्से में सड़क कम चौड़ी होने के कारण इसपर चलने वाले सैकडों ट्रोलों, ट्रकों, कन्टेनरो, कारांे जीपो एंव बसांें को भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। यदि उक्त स्टेट हाईवे संख्या 7 ई एवं 101 को दो लेन पक्की पटरी सहित चोड़ाईकरण कर राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में विकसित कर दिया जाये तो यह मार्ग एक तरफ तो जयपुर, मालपुरा, केकडी, भीलवाडा मेगा हाइवे से जुड़ जायेगा वहीं दूसरी और किषनगढ से हनुमानगढ तक स्थापित मेगा हाइवे से भी जुड़ जायेगा और उक्त मेगा हाईवे पर चलने वाले वाहनो को इसका सीधा लाभ मिलेगा और मकराना (नागौर) मार्बल मण्डी भी उक्त सड़क मार्ग से जुड़ जायेगी। साथ ही उक्त क्षेत्र के ग्रामीणांे को भी सुगम यातायात सुविधा का लाभ मिलेगा। अतः अध्यक्ष महोदय आपके माध्यम से केन्द्रिय सड़क एवं परिवहन मंत्री महोदय से करबद्ध निवेदन है कि किशनगढ़ (अजमेर) से मालपुरा (टोंक) तक 70 किलोमीटर मार्ग को ई.पी.सी. पद्धति एवं राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना के तहत दो लेन पक्की पटरी सहित चौड़ाईकरण कर राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में विकसित कर निर्मित कराने हेतु चालु वितिय वर्ष अथवा आगामी बजट वर्ष 2021-22 की विभागीय कार्य योजनाओं में स्वीकृत कराने की कृपा करावें। ज्ञात रहे कि उक्त 70 किमी के मार्ग पर लगभग 22 किमी का हिस्सा ही 3 मीटर चौड़ा है बाकी का 48 किमी हिस्सा लगभग 5.5 मीटर चौड़ा एवं निर्मित है इस हेतु जमीन अधिगृहण भी पर्याप्त है।बयूरो रिपोर्ट ललित दवे