कोरोना संकट में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करवाने को लेकर केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने किया संसदीय क्षेत्र का तूफानी दौरा

सादड़ी पाली

कोरोना संकट में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करवाने को लेकर केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने किया संसदीय क्षेत्र का तूफानी दौरा (एक ही दिन में पांच विधानसभा क्षेत्र कवर)

संसदीय क्षेत्र बाड़मेर के बायतु, चौहटन, गुड़ामालानी एवं सिवाना विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों के तूफानी दौरे पर पहुंचे केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने विभिन्न सरकारी अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में निरीक्षण करते हुए लिया कोविड-19 व अन्य स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने बुधवार को संसदीय क्षेत्र बाड़मेर के बायतु, चौहटन, गुड़ामालानी एवं सिवाना विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों का तूफानी दौरा किया। इस दौरान कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने विभिन्न सरकारी अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में निरीक्षण करते हुए कोविड-19 व अन्य स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने सबसे पहले राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बायतु का निरीक्षण कर चिकित्सा व्यवस्थाओं को लेकर चिकित्सको और स्वास्थ्यकर्मियों से संवाद किया और ऑक्सीजन की आपूर्ति की समस्या का सामना नहीं करना पड़ें, इसके लिए चिकित्सालय हेतु 50 ऑक्सीजन सिलेंडर की घोषणा की। इसके बाद राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चौहटन का निरीक्षण कर भर्ती मरीजों की कुशलक्षेम जानी एवं चिकित्सको और स्वास्थ्यकर्मियों से व्यवस्थाओं के बारे में संवाद किया। चिकित्सालय में विभिन्न संसाधनों और व्यवस्थाओं हेतु सांसद निधि से 5 लाख रुपये की अनुशंसा की। दोपहर बाद धोरीमन्ना के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया और क्षेत्र में कोविड़-19 के हालात, चिकित्सा व्यवस्था आदि विषयों पर चिकित्सा अधिकारियों से संवाद किया।
संसदीय क्षेत्र बाड़मेर के विभिन्न अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों के निरीक्षण के दौरान केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि चिकित्सा व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों के निरन्तर सम्पर्क में हूँ। हम सभी सामूहिक रूप से कोरोना महामारी के इस संकटकाल में सामर्थ्य अनुरूप कार्य करने के लिए कृत संकल्पित है। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ देश आज फिर बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। इस बार कोरोना संकट में देश के अनेक हिस्सों में ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ी है। इस विषय पर केंद्र सरकार तेजी से और पूरी संवेदनशीलता के साथ काम कर रही है। केंद्र सरकार, राज्य सरकारें और प्राइवेट सेक्टर सभी की पूरी कोशिश है कि हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले। इसके लिए ऑक्सीजन उत्पादन और सप्लाई को बढ़ाने के लिए भी कई स्तरों पर उपाय किए जा रहे हैं। कैलाश चौधरी ने कहा कि मोदी सरकार ने पीएम केयर्स फंड के माध्यम से देशभर के सभी जिला अस्पतालों में 551 नए ऑक्सीजन प्लांट्स बनाने की तैयारी तेजी से शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में लोगों को हो रही परेशानी से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने इस तरह के कई बड़े फैसले लिए हैं, जिससे जनता को राहत मिलेगी।
40 संदिग्ध मौत के बावजूद बामणोर को नजरअंदाज करना कांग्रेस की असंवेदनशीलता का परिचायक : पिछले 15 दिनों में लगभग 40 लोगों की संदिग्ध स्थिति में मौतें होने को लेकर चर्चा में आए विधानसभा क्षेत्र चौहटन के बामणोर गांव पहुंचे केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि गांव में इतने बड़े संकट के बावजूद राज्य सरकार और स्थानीय कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों की बेरुखी समझ से परे है। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने इन संदिग्ध मौतों के पीछे रहे कारणों के बारे में ग्रामवासियों से चर्चा की। जानकारी में आया कि इस गाँव में एक वर्ग विशेष के लोगों का बाहुल्य है और उनके द्वारा स्वास्थ्यकर्मियों को बिल्कुल भी सहयोग नहीं किया जा रहा। कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी के मुताबिक, ग्रामवासियों का आरोप है कि राज्य सरकार बामणोर गाँव में हुई मौतों का आँकड़ा भी छिपा रही है। ना पर्याप्त टेस्ट हो रहे हैं, और ना ही लोग सामाजिक दूरी व मास्क के नियम का अनुसरण कर रहे हैं। राज्य सरकार को इस हेतु विशेष टीम बनाकर बामणोर गाँव के लोगों के स्वास्थ्य की जाँच करनी चाहिए एवं संक्रमण की रोकथाम के लिए कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए। कैलाश चौधरी ने इस दौरान बामणोर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण कर उपलब्ध चिकित्सा सुविधाओं एवं संसाधनों की जानकारी ली और स्वास्थ्य केंद्र को सांसद निधि से एक लाख रुपये की त्वरित सहायता राशि उपलब्ध कराने की अनुशंसा की है। सम्बंधित चिकित्सा व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बयूरो रिपोर्ट ललित दवे