वाराणसी:कोरोना जंग-संकट की घड़ी में यह संगठन जरूरतमंद शहरियों, ग्रामीणों व प्रवासियों के लिए संकटमोचक बन कर उभरा

वाराणसी: रोहनियां/मिर्जामुराद, राजातालाब। कोविड-19 संकट की घड़ी में मानवाधिकार जन निगरानी समिति के अधिशासी निदेशक डाक्टर लेनिन रघुवंशी एवं जनमित्र न्यास कि ट्रष्टी श्रुति नागवंशी शहरी इलाकों के साथ साथ ग्राम वासियों और प्रवासियों के लिए भी संकट मोचक बन कर उभरे हैं। क्षेत्र में विगत 2 दिनों से उन्होंने मोहनसराय- मिर्जामुराद वाया राजातालाब हाईवे से पैदल, सायकिल व अन्य वाहनों से देशभर से वापस अपने घर जा रहे प्रवासियों का अपने पचासवें जन्मदिन 18 मई को इनको राहत सामग्री सहित स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वच्छता कर्मियों को मास्क, सुरक्षा किट उपलब्ध करा रहे हैं इस पुनित कार्य हेतु उनके सानिध्य में स्थानीय निवासी सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता को भी भ्रमण के अवसर मिला हैं।
इसके अलावा मिर्जामुराद स्थित काशी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में (कोरेंटाईन सेंटर) में हजारों मास्क, सुरक्षा किट, सेनेटाइजर, क्लीनर आदि यहां कार्यरत स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं स्वच्छता कर्मियों को देकर सनातनी तरीके से अपना जन्मदिन सादगी से मनाया।

सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने बताया कि कर्मठ लेनिन रघुवंशी और श्रुति इतने साधारण व्यक्तित्व के धनी है कि प्रवासियों ने उनमें अपने हमदर्द की छवि देखी और यात्रा के मार्ग में आने वाली कठिनाइयों का खुले मन से उन्हें अवगत कराया।

ये वही रघुवंशी है जिन्होंने मज़लूमों वंचितों और असहायों के जीवन में खुशहाली लाने का व्रत लिया है और लगातार प्रयास रत भी है। इनकी गिनती देश और दुनिया भर के जाने माने मानवाधिकार कार्यकर्ता में है। इनके सानिध्य में कार्य करने में सक्षम पा कर राज कुमार गर्व की अनुभूति के साथ अपने को सौभाग्यशाली भी समझ रहे हैं।

इस अवसर पर राजकुमार के कर्मभूमि ‘हिमाद्रि स्वदेशी उत्पाद केन्द्र’- राजातालाब का अवलोकन भी किया और प्रवासियों हेतु राहत सामग्री भी क्रय किया।
पंचक्रोसी मार्ग राजातालाब में राजकुमार के पैतृक आवास के जिस कमरे में अपनी बिटियां के नाम से एक साल पहले जीविकोपार्जन के लिए “हिमाद्रि स्वदेशी उत्पाद केन्द्र” के नाम से छोटा सा प्रतिष्ठान स्थापित किया है वही कमरा राजकुमार का जन्म स्थली भी है और इसी कमरे, दुकान से अपने इस जन्म दिन पर लेनिन रघुवंशी ने क्षेत्रीय राहत वितरण की रूपरेखा निर्मित की। सामाजिक कार्यकर्ता लेनिन रवुवंशी के आगमन से क्षेत्र के लोगों में नवीन आशा का संचार हुआ है।

रिपोर्ट राजकुमार गुप्ता वाराणसी