विशारतगंज पुलिस व नगर पंचायत बोर्ड आमने-सामने।

रिपोर्ट-सूरज सागर।

बरेली/विशारतगंज- बिशारतगंज नगर के बस स्टैंड तिराहे पर दो दुकानों को जबरन बंद कराए जाने को लेकर नगर पंचायत बोर्ड और बिशारतगंज पुलिस आमने सामने आ गई है।
चेयरमैन सूरजपाल मौर्य के नेतृत्व में आधा दर्जन सभासदों ने सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से भेंट कर थाना पुलिस पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। चेयरमैन व सभासदों ने पुलिस कप्तान को आरोप लगाते हुए बताया कि वार्ड नंबर 6 निवासी आजाद मौर्य की बस स्टैंड तिराहे पर करीब 5 दशक पुरानी दो दुकानें हैं जिन पर कुछ भूमाफिया साजिश करके कब्जा करना चाहते हैं बीती 31 मई को उक्त मामले में मुंसिफ कोर्ट आंवला ने यथास्थिति बनाए रखने का स्टे आर्डर दिया था।
जनप्रतिनिधियों ने यह भी आरोप लगाते हुए बताया कि स्टे होने के बावजूद भी बिशारतगंज पुलिस ने उक्त दोनों दुकानों को पिछले दिनों जबरन खाली कराकर उन में ताले डाल दिए हैं। एसएसपी से शिकायत करने वालों में सभासद बबलू मौर्य, महेश साहू, दुर्गेश गोस्वामी, तबस्सुम बेगम, भाजपा के मंडल अध्यक्ष महेश साहू, व्यापार मंडल के सतीश साहू आदि प्रमुखता से शामिल रहे। कस्बा इंचार्ज अमित कुमार सिंह ने बताया कि भ्रष्टाचार का आरोप बिल्कुल गलत है और न्यायालय के आदेश का पूरा पालन किया जा रहा है।